Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now
---Advertisement---

डॉक्टर (Doctor) कैसे बने? योग्यता NEET एंट्रेंस एग्जाम

By Admin Team

Updated On:

Follow Us
---Advertisement---

12 वी पास करने के पश्चात आज हर छात्र एवं छात्राएं अपना एक सफल भविष्य बनाना चाहते हैं, हर छात्र एवं छात्राओं को  अपने जीवन  सफल बनाने का एक सपना होता है, आज हर छात्र एवं छात्राओं के मन में कुछ करने के लिए कुछ बनने की इच्छा होती है कुछ पायलट बनना चाहते हैं तो कुछ आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं, कुछ प्रोफेसर बनना चाहते हैं, कुछ इंजीनियर बनना चाहते हैं। 

वहीं दूसरी और कुछ लोग डॉक्टर बनना चाहते हैं, कुछ छात्रों एवं छात्राओं में तो बचपन से ही डॉक्टर बनने की इच्छा होती है, इसी के साथ ही साथ कुछ कुछ माता-पिता की भी इच्छा होती है पढ़ लिखकर मेरा बेटा या बेटी डॉक्टर बने।  

समाज में डॉक्टर का दर्जा एक भगवान के रूप में दिया जाता है।  डॉक्टर वह होता है जो रोगों का निदान करता है उनकी जांच करता है, रोगियों की देखभाल करता है। 

उनके लिए दवा एवं शल्य चिकित्सा का प्रबंध करता है।  डॉक्टर वह होता है जो अपने चिकित्सा निपुणता के द्वारा रोगी को कैसा चिकित्सा सेवा प्रदान करना उसकी सलाह देता है एवं सही समय पर सही निर्णय लेता है। 

डॉक्टर का कार्य सेवा भावना के ओत प्रोत  होता है, डॉक्टर का कार्य एक सेवा कार्य है, अतः जिन छात्र एवं छात्राओं में सेवा की भावना है वह डॉक्टर बन कर अपना सफल कैरियर बना सकते हैं, डॉक्टर का कार्य सम्मान प्रतिष्ठा का कार्य है, इसके साथ ही साथ डॉक्टर बनना एक गौरव की बात है।  

[lwptoc]

Table of Contents

डॉक्टर कैसे बने?

डॉक्टर कैसे बने ये सभी जानकारी इस लेख मे बतायी जा रही है –

यदि आप चिकित्सा के क्षेत्र में नौकरी पाना चाहते हैं एवं आपके अंदर सेवा की भावना है, तो इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक पढ़े, इस लेख के द्वारा हम निम्नलिखित विषय का उल्लेख करने जा रहे हैं, जिसके द्वारा आपको डॉक्टर बनने की जानकारी प्राप्त होगी और आप अपने लक्ष्य को हासिल प्राप्त कर सकते हैं। 

डॉक्टर बनना इतना आसान काम नहीं है परंतु असंभव भी नहीं है, डॉक्टर बनने के लिए कड़ी मेहनत एवं लगन एवं समर्पण की जरूरत होती है।  अपने लक्ष्य को हासिल करने की दृढ़ इच्छा के साथ कड़ी मेहनत की जरूरत है इसके द्वारा आप आपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है।  

अगर आप एक अच्छे बेस्ट डॉक्टर बनाना चाहते हो तो आप को बहुत कुछ स्टडी करना होगा और बहुत ही लगन और कड़ी मेहनत के साथ डॉक्टर की पढ़ाई करना होगा तो चलिए वो सभी बाते जान लेते है जो आप को डॉक्टर बने मे आपकी हेल्प कर सकती है।  

जिसे डॉक्टर बनाना है सबसे पहले उसके पास डॉक्टर बनने की ललक तथा दृढ़ इच्छा की जरूरत होती है और सबसे पहले आप का अपना इंटरेस्ट होना चाहिए आप किसी को जबरदस्ती डॉक्टर नहीं बना सकते बच्चे के अन्दर dream होनाचाहिए डॉक्टर बनाने का अगर आप के पास dream नहीं है डॉक्टर बनाने का तो आप इस प्रोफेशन मे न आये।  

डॉक्टर बनने के महत्वपूर्ण चरण

  1. अगर आप 10वी कक्षा मे हो और आप डॉक्टर बना चाहते हो अच्छे से पढाई करे क्यों की जब आप के अच्छे परसेंट होंगे 10वी मे तभी 11वी कक्षा मे साइंस सब्जेक्ट मिलेंगे आप को इस बात को जरूर ध्यान रखना होगा, आप  को 11वी और 12 वी मे साइंस साइड लीना है बायोलॉजी (Biology) के साथ पढाई करना होता है तभी आप डॉक्टर बन सकते है बिना साइंस पढ़े आप डॉक्टर नहीं बन सकते है।  
  • अगर आप डॉक्टर बना चाहते है इन बात को जरूर ध्यान रखे 11th और 12th मे फिजिक्स सब्जेक्ट को बहुत ही मेहनत से पढ़े।  
  • आपको Biology subject को बहुत अच्छे से पढ़ना चाहिए और अच्छे मार्क्स से Biology को पढ़ना है।   
  • अगर आप डॉक्टर बनना चाहते है तो chemistry के सब्जेक्ट को ध्यान से पढ़े।   

2. डॉक्टर बनने के लिए एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें बहुत जरूरी है –

अगर आप Doctor बनना चाहते तो आप को 11वी और 12वी क्लास पास करने से पहले ही डॉक्टर बनाने की तयारी शरू कर देनी चाहिए एंट्रेन्स एग्जाम की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।  

  • अगर आप डॉक्टर बनना चाहते है तो आप को एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करनी चाहिये अगर आप को सेल्फ स्टडी करने मे प्रॉब्लम होती है तो आप को कोचिंग ज्वाइन जरूर करना चाहिए।
  • अगर आप कोचिंग ले नहीं सकते फिर भी आप के आतम विश्वास के कारण मुझे डॉक्टर बनाना है, ऐसे स्टूडेंट जिन के पास पैसे नहीं है इण्टरनेंट की हेल्प से पढ़े, ये हमेशा ध्यान रखे आप को आप की परिस्थिति आप को डॉक्टर बन सके नहीं रोक सकते। 

3. एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करें –

NEET एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करना बहुत जरूरी है

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते है तो आप को डॉक्टर बनाने से पहले आप को एंट्रेन्स एग्जाम देना होता है, बिना एंट्रेंस दिये आप डॉक्टर नहीं बन सकते और आप को 12 क्लास मे अच्छे मार्क्स से पास होना चाहिए इस के बाद आप को All India medical Exam या फिर स्टेट लेवल के फॉर्म फील करे और इस बात का ध्यान रखे की आप केएंट्रेन्स एग्जाम के मार्क्स ही आपको अच्छे कॉलेज मे एडमिशन मिलने मे हेल्प करते है, आप एंट्रेंस एग्जाम के बाद काउंसलिंग होता है और आप के एंट्रेन्स एग्जाम के मार्क्स के आधार पर कॉलेज मिलते है।

See also  बीएससी B.Sc करने के बाद क्या करे?

इस लेख के द्वारा आप डॉक्टर कैसे बने इसकी जानकारी देने जा रहे हैं 

  1. डॉक्टर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता 
  2. प्रवेश परीक्षा एंट्रेंस एग्जाम
  3. प्रवेश परीक्षा की तैयारी
  4. प्रवेश परीक्षा Entrance Exam
  5. चिकित्सा संस्थान एवं collage
  6. डॉक्टर के कोर्स 
  7. नौकरी के क्षेत्र 

डॉक्टर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता

यदि कोई छात्र एवं छात्राएं चिकित्सा क्षेत्र में रुचि रखते हैं जिसमें सेवा की भावना है डॉक्टर बनकर अपना करियर बनाना चाहते हैं तो उसे अपनी पढ़ाई पर बहुत ध्यान रखना पड़ेगा और कड़ी मेहनत एवं कड़ी लगन के साथ पढ़ाई करनी पड़ेगी 

यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं और मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाना चाहते हैं तो आपको डॉक्टर का कोर्स करना पड़ेगा और इस डॉक्टर के कोर्स में प्रवेश पाने के लिए मेडिकल प्रवेश परीक्षा Entrence Exam देना जरूरी है, बिना मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम के आप मेडिकल कॉलेज में प्रवेश नहीं पा सकते।

मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए विज्ञान विषय के साथ 12वीं कक्षा में P.C.B अर्थात फिजिक्स  केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी विषय के साथ प्रत्येक विषय में 50% अंकों के साथ पास होना जरूरी है, इसके साथ ही साथ अंग्रेजी विषय भी होना आवश्यक है, यदि किसी विद्यार्थी ने दसवीं कक्षा में विज्ञान विषय नहीं लिया हो तो घबराने की जरूरत नहीं है, परंतु 11वीं और 12वीं कक्षा में विज्ञान विषय के साथ पास होना जरूरी है। 

डॉक्टर बनने के लिए कोर्स 

डॉक्टर का कोर्स पूरा करने के पश्चात ही डॉक्टर की उपाधि प्राप्त कर सकते हैं, अर्थात डॉक्टर बनने के लिए डॉक्टर का कोर्स करना जरूरी है, डॉक्टर बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कोर्स है, जो निम्नलिखित है

  1. MBBS (एमबीबीएस बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी) 
  2. BDS (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी)
  3. B.A.M.S.बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी
  4. BHMS (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी)  

डॉक्टर बनने के लिए Entrance Exam एंट्रेंस एग्जाम 

डॉक्टर बनने के लिए (MBBS) एमबीबीएस का कोर्स करना जरूरी है MBBS एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन पाने के लिए मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम National Eligibility Cum Entrance Test (NEET) को पास करना जरूरी है मेडिकल कॉलेज में दाखिला मेडिकल प्रवेश परीक्षा के प्राप्त अंकों के आधार पर की जाती है मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी ग्यारहवीं कक्षा से ही कर सकते हैं, मेडिकल प्रवेश परीक्षा के प्रश्न पत्र 11 वीं  एवं 12 वीं कक्षा के स्तर के आधार पर पूछे जाते है।

11वीं कक्षा की परीक्षा पास करने के पश्चात ही मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम (Medical Entrance Exam) की परीक्षा में भाग ले सकते हैं, यदि आप 12वीं पास नहीं किया है परंतु 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं, तब भी आप मडिकल एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam- NEET) में भाग ले सकते हैं, परंतु मेडिकल कॉलेज में प्रवेश 12वीं कक्षा की परीक्षा पास करने के बाद ही हो सकता है।

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेने के लिए कम से कम उम्र 17 साल होनी चाहिए और इसकी अधिकतम आयु सीमा 25 वर्ष की है मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेने के लिए 12वीं की परीक्षा में 50% अंक सहित फिजिक्स केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी विज्ञान विषयों के साथ उत्तरण होना जरूरी है

  • विज्ञान विषयों के साथ अंग्रेजी विषय का होना जरूरी है
  • मेडिकल  एंट्रेंस एग्जाम Entrance Exam का माध्यम अंग्रेजी एवं हिंदी दोनों में ही लिया जाता है
  • मेडिकल कॉलेज में दाखिला Entrance Exam एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त मेरिट अंकों के आधार पर किया जाता है अतः इसके लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता है।

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) NEET का फॉर्म कब निकलता है 

  • मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम NEET के एप्लीकेशन फॉर्म नवंबर में निकली है
  • तथा NEET का एग्जाम मई में होता है

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) NEET की एज लिमिट क्या है

  • NEET एग्जाम देने के लिये आप की उम्र 17 साल की तथा अधिकतम 25 साल की हो
  • other caste – SC /ST के लिये 5 साल की age relextion होती  है

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) NEET की एग्जाम फीस क्या है

  • Exam Fees – 1400/- General
  • 750/- SC /ST /PH

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम(Entrance Exam)की तैयारी कैसे करें 

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी आप घर बैठकर कर सकते हैं अथवा किसी प्राइवेट या मेडिकल इंस्टिट्यूट के द्वारा कर सकते हैं आजकल बहुत सारे प्राइवेट संस्थाएं हैं जो एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर आती है जहां आप जाकर कोचिंग क्लास ले सकते हैं और इसकी तैयारी कर सकते है। 

आप इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे ही एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं, इसके अलावा आप किसी अच्छे इंस्टिट्यूट से कोचिंग लेकर एग्जाम की तैयारी कर सकते है।

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम दो तरह के होते हैं स्टेट लेवल पर एवं ऑल इंडिया लेवल पर आप किसी भी लेवल पर एक अच्छी तैयारी के साथ एंट्रेंस एग्जाम Entrance Exam दे सकते है।

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त अंकों के आधार पर ही आपको मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है, एंट्रेंस एग्जाम में प्राप्त मेरिट अंकों के आधार पर ही मेडिकल कॉलेज निर्धारित किया जाता है, कि आपको कौन सी कॉलेज में एडमिशन मिलेगा अर्थात यदि आप एंट्रेंस एग्जाम Entrance Exam में अच्छे मार्क्स लेकर आते हैं तो आपको अच्छे कॉलेज में एडमिशन मिलेगा एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद काउंसलिंग में भाग लेना होगा और आपके मेरिट बैंक के आधार पर आपके मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने की सूची तैयार की जाएगी ।

आपको यह ध्यान देने की जरूरत है कि यदि आप गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाना चाहते हैं तो आपको अच्छे नंबर से परीक्षा पास करने की जरूरत है 

गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिलने से एक बहुत बड़ा फायदा यह है कि यहां प्राइवेट कॉलेजों की अपेक्षा फीस बहुत कम पाई जाती है 

Neet Exam क्या है? और इसे क्यों दिया जाता है?

  • NEET का फुल फॉर्म क्या होता है – National Eligibility Entrance Test (NEET)
  • नीट का फुल फॉर्म हिंदी मे – राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा (नीट)

अगर आप डॉक्टर बनाना चाहते  हो तो आप को NEET का एग्जाम देना होता  है, बिना NEET एग्जाम दिये आप डॉक्टर नहीं बन सकते क्यों की सभी मेडिकल फील्ड मे  करियर बनाना चाहते है उन्हें नीट का एग्जाम देना होता है । इसके बाद ही स्टूडेंट Medical कॉलेज मे एडमिशन ले सकता है

नीट Entrance Exam एंट्रेंस एग्जाम कहां से अप्लाई करें

मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरे जाते हैं आइए हम आपको कुछ मेडिकल इंस्टिट्यूट चाहिए जानकारी दे रहे हैं जहां से आप ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भर कर एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं एवं एक डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं

  1. ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एम्स (All India institute of Medical Science – AIIMS) 
  2. नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility cum Entrance Test – NEET) 
  3. मध्य प्रदेश प्री मेडिकल टेस्ट (Madhya Pradesh Pre Medical Test)
  4. अखिल भारतीय प्री मेडिकल टेस्ट (Delhi University Pre Medical Test – PMT) 
  5. पंजाब मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट (Punjab Medical Entrance Test – PMET) 
  6. उत्तर प्रदेश मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट (Uttar Pradesh Medical Entrance Test – UPMT)  
See also  क्लाउड किचन बिज़नेस क्या है, कैसे शुरू करें, जाने पूरी जानकारी

All India Pre Medical Test – (AIPMT) एवं All India Dental Test – (AIPDT) जैसे महत्वपूर्ण परीक्षा हर साल अप्रैल के महीने में ऑल इंडिया ऑल इंडिया लेवल पर CBSE द्वारा आयोजित की जाती है

नेट यूजीसी 2020 की रूपरेखा

विषय प्रश्नों के प्रकार अवधि प्रश्नों की संख्या अंक
भौतिक बहुविकल्पीय प्रश्न/ चार विकल्पों में एक सही उत्तर/बेहतरीन विकल्प 02:00 PM से 5 :00 PM तक 45 180
रसायन शास्त्र 45 180
जीव विज्ञान 90 360
कुल अंक 180 720

बेस्ट बुक्स फॉर MBBS नीट Entrance Exam 2023

अगर आप नीट एग्जाम की तैयारी कर रहे हो तो आप को सबसे पहले NCRT के BOOKS से तयारी शुरू करना क्योंकी NEET Exam मे 80% Question NCRT के पूछे जाते हैं नीट एग्जाम को पास करने के लिये नीचे सभी बेस्ट बुक्स की जानकारी दे रहे है –  इस बात का जरूर ध्यान रखें अगर NEET की तैयारी कर रहे हो तो आपका 11th और 12th की NCRT की Books जरूर पढ़ लेना चाहिए जब आप NCRT की Book पढ़ लोगो उसके बाद आप को इन सभी पुस्तक को जरूर पढ़े  जो है – Concept of Physics Part-1 – H.C Verma,  Fundamental Physics By Pradeep’s, objective physics by dc pandey इन  सभी  बुक्स  को  जरूर  पढ़े – 

 

डॉक्टर बनने के लिए कोर्स 

अब आप जैसा समझ गए होंगे कि डॉक्टर बनने के लिए अथवा डॉक्टर के कोर्स में एडमिशन पाने के लिए Entrance Exam पास करना जरूरी है Entrance Exam पास करने के बाद ही आप डॉक्टर का कोर्स के लिए आप मेडिकल कॉलेज में दाखिला प्राप्त कर सकते हैं, डॉक्टर का कोर्स पूरा होने के पश्चात ही आप MBBS डॉक्टर की उपाधि प्राप्त कर सकते हैं, डॉक्टर का कोर्स MBBS करना जरूरी है, वैसे तो डॉक्टर बनने के लिए बहुत कोर्स होते हैं, परंतु हम जहां डॉक्टर बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कोर्स के बारे में वर्णन करने जा रहे हैं 

  1. एमबी.बी.एस – MBBS 
  2. बी .डी .एस  – BDS 
  3. बी.ए.एमएस – BAMS 
  4. बी. एच. एम. एच – BHMS 

एम.बी.बी.एस क्या है? 

MBBS, जिसका फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी से है, एमबीबीएस डिग्री कोर्स एक बहुत पॉपुलर कोर्स है, आज भारत में सबसे ज्यादा एमबीबीएस डिग्री कोर्स किया जाता है, आज हर छात्र-छात्राएं एमबीबीएस डिग्री कोर्स करके एक सफल डॉक्टर बनना चाहते हैं, इस प्रकार से इस कोर्स को करने की संख्या बहुत ज्यादा और कंपटीशन बहुत ज्यादा है, चिकित्सा के क्षेत्र में यह एक सबसे बड़ा कोर्स है, MBBS एमबीबीएस डॉक्टर दो प्रकार के होते हैं फिजीशियन एवं सर्जन, फिजिशियन डॉक्टर मेडिसिन की विशिष्ट जानकारी रखता है और सर्जन शल्य चिकित्सा विशिष्ट जानकारी रखता है।  

MBBS कोर्स में प्रवेश पाने की योग्यता 

MBBS कोर्स में प्रवेश पाने के लिए 12वीं कक्षा 50 % के साथ विज्ञान विषय अर्थात फिजिकल केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी के साथ पास होना जरूरी है, इसके साथ ही साथ मेडिकल कॉलेज में दाखिला प्राप्त करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना जरूरी है MBBS कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए 17 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

MBBS  कोर्स  की फीस अलग-अलग कॉलेज में विभिन्न विभिन्न होती है, गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज की फीस प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की अपेक्षा कम पाई जाती है, Entrance Exam के आधार पर मेडिकल कॉलेज में एडमिशन निर्धारित की जाती है अतः Entrance Exam में अच्छे नंबर से पास करने की कोशिश होनी चाहिए।   

सरकारी कॉलेज की फीस 

सरकारी मेडिकल कॉलेज में भी इसकी फीस में विभिन्न ता पाई जाती है, केंद्र शासित प्रदेशों की अपेक्षा राज्य सरकार द्वारा चलाए जाने वाले मेडिकल कॉलेज की दर ऊंची पाई जाती है।  

जैसे – एम्स की फीस 1000 रुपए के लगभग एवं दिल्ली में इसकी फीस 4000 से  70000 के लगभग वहीं दूसरी और यूपी एवं आईपी यूनिवर्सिटी में इसकी फीस लगभग ₹20000 से ₹30000 तक सालाना पाई जाती है।  

प्राइवेट कॉलेज में इसकी फीस लगभग 5 से 6 लाख और कुछ मेडिकल कॉलेज में इसकी फीस लगभग 10 से 2000000 रुपए सालाना पाई जाती है।  

एमबीबीएस MBBS कोर्स की अवधि

MBBS एमबीबीएस कोर्स की पूर्ण अवधि 5 वर्ष 6 महीने का होता है, जिसमें 1 साल का इंटर्नशिप भी शामिल है, यह कोर्स 9 सेमेस्टर में पूरा किया जाता है हर 6 महीने में एक सेमेस्टर होता है।  

एमबीबीएस MBBS Advanced Course

एमबीबीएस करने के पश्चात अपने तकनीकी चिकित्सा कार्यों में बढ़ोतरी के लिए किसी भी क्षेत्र में एम.डी MD अर्थात मास्टर डिग्री हासिल कर सकते है- 

जैसे – एमडी अर्थात मास्टर ऑफ मेडिसिन इस डिग्री के द्वारा मेडिसिन के बारे में विशिष्ट जानकारी प्राप्त होती है जिसके माध्यम से डॉक्टर रोगों का निदान करने के पश्चात उपयुक्त दवाई सिफारिश करता है या प्रबंधन करता है।  

एम.एस MS – अर्थात मास्टर ऑफ सर्जरी Master of Surgery इस डिग्री के द्वारा सैन्य चिकित्सा ऑपरेशन संबंधी विशिष्ट जानकारी प्राप्त होती है  जिसके माध्यम से रोगी को शल्य चिकित्सा के लिए तैयार करना एवं उनकी प्रक्रिया में भाग लेना सहयोग करना और रोगी को उचित शल्य चिकित्सा का प्रबंध करना होता है।   

इसके अतिरिक्त एमबीबीएस डॉक्टर किसी भी रोग के स्पेशलिस्ट पाए जाते हैं जैसे

  • स्त्री रोग विशेषज्ञ
  • चाइल्ड रोग विशेषज्ञ
  • नाक कान एवं गले से संबंधित रोग आंखों के रोग विशेषज्ञ
  • मानसिक रोग विशेषज्ञ
  • आर्थोपेडिक  विशेषज्ञ
  • हृदय रोग विशेषज्ञ इत्यादि

10 टॉप मेडिकल कॉलेज 

TOP टॉप मेडिकल कॉलेज की पूरी जानकारी 

  1. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान,नई दिल्ली (All india Institute of Medical Science-Delhi)
  2. क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर (Christian Medical College Hospital Tamil nadu – Vellore)
  3. अर्मेद फोर्सेस मेडिकल कॉलेज (Armed Force Medical College – Pune)
  4. मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज (Maulana Azad Medical College – Delhi)
  5. जवाहरलाल स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (Jawaharlal Institute of PG Medical Education Research – Puducherry)
  6. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (King George’s Medical University – UP – Lucknow)
  7. चिकित्सा विज्ञान संस्थान वाराणसी, उत्तर प्रदेश में विश्वविद्यालय (Institute of Medical Science, BHU – Varanasi)
  8. वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज नई दिल्ली में कॉलेज (Vardhman Mahavir Medical College Delhi)
  9. लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (Lady Hardinge Medical College – Delhi)
  10. युनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ़ मेडिकल साइंसेस (University college of Medical Science – Delhi)

एमबीबीएस करने के पश्चात जॉब की संभावनाएं 

MBBS एमबीबीएस कोर्स करने के पश्चात उसे एक डॉक्टर की डिग्री प्राप्त हो जाती है  एमबीबीएस कोर्स करने के पश्चात कोई भी डॉक्टर खाली नहीं बैठ सकता है देश में तेजी से बढ़ती हुई रोगियों की संख्या की अपेक्षा आज डॉक्टरों की संख्या बहुत कम है आज हमारे देश में डॉक्टरों की इतनी कमी है कि डॉक्टरों के इलाज के बिना रोगियों की मृत्यु हो जाती है विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में यह कमी अधिकतर देखने को मिलती है।   

इस प्रकार से आज कोई भी डॉक्टर खाली नहीं बैठ सकता है MBBS एमबीबीएस करने के पश्चात निम्नलिखित क्षेत्रों में जॉब प्राप्त करने के अवसर मिल जाते हैं- 

  1. हॉस्पिटल
  2. मेडिकल इंस्टीट्यूट 
  3. मेडिकल कॉलेज
  4. नर्सिंग होम 
  5. हेल्थ सेंटर
  6. बायोमेडिकल कंपनी 
  7. लैबोरेट्रीज
  8. एनजीओ
  9. रिसर्च इंस्टीट्यूट
  10. फार्मास्यूटिकल और बायो टेक्नोलॉजी कंपनी
  11. मेडिकल सेंटर
  12. डिस्पेंसरी

इसके अलावा यदि आप आर्म्ड फोर्स में डॉक्टर की नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको आर्मी फोर्स मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री लेनी होगी आप अन्य मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री प्राप्त कर आर्म्ड फोर्स में डॉक्टर के लिए आवेदन कर सकते हैं।   

आर्म्ड फोर्स में डॉक्टर की भर्ती दो तरह से होती है शॉर्ट सर्विस कमीशन Short Service Commission  परमानेंट कमीशन Permanent Commission 

See also  नर्सिंग र्कोस क्या है? नर्स कैसे बने? योग्यता सैलरी क्या होती है?

शार्ट सर्विस कमीशन  Short Service Commission SSC 

इसका प्रारंभिक कार्यकाल 5 वर्ष का होता है जो 9 साल तक बढ़ाया जा सकता है पहले 5 साल के लिए और दूसरा 4 साल के लिए कुल मिलाकर शॉर्ट सर्विस कमीशन कार्यकाल 14 साल तक का होता है जो डॉक्टर मेडिकल कॉलेज से आते हैं उन्हें साधारण सा शॉर्ट सर्विस कमिशन में भर्ती किया जाता है।   

स्थायी कमीशन (पीसी) Permanent Commission P.C

परमानेंट कमिशन में डॉक्टर की भर्ती आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज से किया जाता है  मेडिकल कॉलेज से पास आउट 50% सीधे परमानेंट कमीशन PC भर्ती किए जाते हैं और से शॉर्ट सर्विस कमीशन में भर्ती किए जाते हैं।   

बी. डी. एस – BDS क्या है ?

बी. डी. एस बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी से है, चिकित्सा के क्षेत्र में बी. डी. एस भी एक मुख्य कोर्स है जो छात्र एवं छात्राएं इस क्षेत्र में इच्छुक रहते हैं उनके लिए नौकरी के अवसर है।   

बी. डी. एस कोर्स योग्यता Education Qualification 

इस कोर्स में प्रवेश पाने के लिए बारहवीं कक्षा पास होना जरूरी है, साथ ही साथ इस कोर्स में प्रवेश पाने के लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना जरूरी है।  

बी. डी. एस कोर्स की अवधि – इस कोर्स की अवधि 4 साल की होती है इसके साथ ही 1 साल का इंटर्नशिप होता है इस प्रकार से कुल मिलाकर इसकी अवधि 5 वर्ष की होती है।  

बी. डी. एस बीडीएस कोर्स की फीस – इसकी फीस लगभग मेडिकल कॉलेज में भिन्न-भिन्न पाई जाती है सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज के परीक्षा सस्ती होती है इसकी फीस लगभग 50000 से 12 लाख तक तक होती है।  

बी. डी. एस के कुछ महत्वपूर्ण कॉलेज 

  1. गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज एंड अस्पताल आंध्र प्रदेश 
  2. अमृत कॉलेज ऑफ डेंटिस्ट केरल 
  3. फैकल्टी ऑफ डेंटल साइंस किंग जॉर्ज मेडिकल लखनऊ 
  4. मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज नई दिल्ली
  5. डेंटल कॉलेज तिरुवनंतपुरम 

एडवांस कोर्स  बी. डी. एस  

बी. डी. एस कोर्स करने के बाद इन क्षेत्र में एडवांस कोर्स कर सकते हैं- 

  1. एमएससी पीडियाट्रिक डेंटिस्ट 
  2. मास्टर ऑफ डेंटल सर्जरी
  3. एमएससी प्राइमरी डेंटल केयर
  4. एमएससी रेस्टोरेंट्स एंड आर्टिस्ट डेंटिस्ट 

बी. डी. एस कोर्स करने के बाद रोजगार के अवसर 

  • हॉस्पिटल
  • डेंटल क्लिनिक 
  • रिसर्च सेंटर
  • इंटरनेशनल वेलफेयर ऑर्गेनाइजेशन 
  • इंडियन आर्म्ड फोर्स

बीएएमएस – B.A.M.S क्या है? बीएएमएस का फुल फॉर्म क्या है?

बीएएमएस – B.A.M.Sइसे हम बैचलर ऑफ़ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी से जानते हैं यह एक आयुर्वेदिक मेडिकल कोर्स से संबंधित है जिसमें वनस्पति जड़ी बूटी से संबंधित मेडिसिन होता है, यह सेंट्रल काउंसलिंग ऑफ इंडियन मेडिसिन द्वारा रिकॉग्नाइज होता है। 

बीएएमएस – B.A.M.S करने की क्या अवधि होती है?

इस कोर्स की अवधि 5 साल की होती है जिसमें 1 साल का इंटर्नशिप शामिल होता है इस कोर्स की फीस लगभग 3 से 500000 तक होती है सरकारी कॉलेज में प्राइवेट कॉलेज की अपेक्षा फीस कम पाई जाती है।  

बीएएमएस – B.A.M.S के लिए शैक्षिक योग्यता क्या है?

बीएएमएस कोर्स करने के लिए क्या eligibility होनी चाहिए आप को ये बात ध्यान रखना है की आपने 10 + 2 मे  science स्ट्रीम से पढाई की हो जिसमें आप के पास Physics, Chemistry और Biology आदि के साथ सभी मुख्य विषय होने जरूरी है।

बीएएमएस – B.A.M.S में admission लेने के लिये क्या Entrance देना होता है?

जी हां अगर आप B.A.M.S में admission लेना चाहते है तो आप को एंट्रेस एग्जाम देना होगा जिसमे आपकी Qualification आप 10 + 2 पास होनी चाहिए और आप के पास science स्ट्रीम होनी चाहिए जिसमें Physics, Chemistry और Biology जरूर होने चाहिए और काम से काम 50 % मार्क्स होने जरूरी है Entrance Exam में भाग लेने के लिए तथा SC ST के श्रेणी के candidate को 40 % की योगिता होती  है जिसकी जानकारी  आप को Entrance Exam के Notification मे देख सकते है।  

बीएएमएस – B.A.M.S मे Admission कैसे लेते है?

कैंडिडेट को B.A.M.S Exam के Entrance में प्राप्तः Rank आधार पर विभिन और्वेद कॉलेज मे एड्मिशन दिया जाता है, तथा कुछ Univerisity दवारा कैंडिडेट का एडमिशन 10 +2 मे प्राप्तः अंको तथा Entrence Exam मे प्राप्तः Rank के आधार पर किया जाता है।  

बीएएमएस – B.A.M.S में Admission लेने के लिये उम्र कितनी होनी चाहिए?

बीएएमएस – B.A.M.S कोर्स में एडमिशन लेने लिए आप की age 17 साल की होनी चाहिए।

बीएएमएस – B.A.M.S का syllabus क्या है?

1st Professional जिसमें आप संस्कृत भाषा पढ़ाई है, हिस्ट्री ऑफ़ आयुर्वेद History of Ayurveda पूरी जानकारी पढ़ते है, आयुर्वेदिक फिलॉसॉपी Ayurvedic Philosophy के बारे मे पढ़ते है, Anatomy,[Kriya Sharir] Physiology, Ashtang Hridyam (Sutrasthan) आदि सब्जेक्ट पढ़ते है।

2nd Professional – जिसमे आप को पढ़ाया जाता है Dravyaguna Vigyan (Materia Medica of Ayurveda), Agada Tantra (Toxicology), Charak Samhita (Purvardha), Swasthavritta, Vyavhar Ayurved evum Vidhi Vaidyak, Agada Tantra (Toxicology) आदि सब्जेक्ट पढ़ते है। 

3rd Professional –  जिसमे आप को पढ़ाया जाता है Shalya (General surgery and parasurgical techniques), Charak Samhita (Uttarardha), Shalakya (ENT, Eye and Dentistry), Kaumarbhritya Pediatrics, Panchkarma,Prasuti Tantra Evum Stri Roga (Gynaecology and Obstetrics) आदि सब्जेक्ट पढ़ते है। 

B.A.M.S.बीएएमएस – Top कॉलेज

  1. आचार्य देशभूषण (Acharya Deshabhushan)
  2. कर्नाटक आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज (Ayurved Medical College Hospital Karnataka)
  3. अलीगढ़ यूनानी / आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज (Aligarh unani and Ayurvedic College)
  4. अभिलाषा विश्वविद्यालय हिमाचल (Abhilashi University Himachal pradesh)
  5. श्री धन्वन्तरि आयुर्वेदिक कॉलेज और हॉस्पिटल चंडीगढ़ (Dadar Dhanwantri Ayurvedic College Chandigarh)
  6. स्टेट आयुर्वेदिक कॉलेज & हॉस्पिटल लखनऊ (State Ayurvedic College and Hospital Lucknow)
  7. गवर्नमेंट आयुर्वेद कॉलेज, नागपुर (Government Ayurveda College and Hospital Nagpur)
  8. दयानंद आयुर्वेदिक कॉलेज जालंधर (Dayanand Ayurvedic College Hospital and Pharmacy Jalandhar)
  9. इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल साइंस IMS वाराणसी (Institute of Medical Sciences – [IMS])
  10. महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय नासिक (Maharashtra University of Health Sciences Nashik)
  11. जुपिटर आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज नागपुर (jupiter ayurved medical college nagpur)

B.A.M.S.बीएएमएस के बाद एडवांस कोर्स किया जा सकता है

बीएएमएस के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कर सकते है जिस की पूरी जानकारी नीचे दे रहे है।

  1. पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा पंचकर्म Post Graduate Diploma in Panchkarma
  2. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन आयुर्वेदिक सिद्धांत और दर्शन
  3. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन आयुर्वेद बुनियादी सिद्धांत में
  4. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन आयुर्वेद द्रव्य गुण
  5. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन आयुर्वेद शल्य
  6. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन आयुर्वेद
  7. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन आयुर्वेद पंचकर्म
  8. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन स्वस्थ वृत्त
  9. डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन द्रव्य गुण

B.A.M.S.बीएएमएस के बाद डिप्लोमा कोर्स

  1. डिप्लोमा इन आयुर्वेदिक फार्मेसी
  2. डिप्लोमा इन आयुर्वेद नर्सिंग एंड फार्मेसी
  3. डिप्लोमा इन आयुर्वेदिक नॉलेज
  4. डिप्लोमा इन हर्बल मेडिसिन
  5. डिप्लोमा इन नेचुरोपैथी और यौगिक साइंस
  6. डिप्लोमा इन पंचकर्म

BHMS बीएचएमएस क्या है? बीएएमएस का फुलफॉर्म जाने

बी एच एम एस फुल फॉर्म ऑफ- होम्योपैथिक मेडिसिन एंड  सर्जरी से है, इस कोर्स में होम्योपैथिक मेडिसिन से संबंधित जानकारी दी जाती है, बहुत से लोग होम्योपैथिक इलाज करवाना पसंद करते हैं अतः होम्योपैथिक इलाज भी आज बहुत ही लोकप्रिय बन गया है, एलोपैथिक और आयुर्वेदिक सिस्टम के बाद होम्योपैथिक सिस्टम के द्वारा इलाज तीसरी बड़ी मेडिसिन का सिस्टम है। 

BHMS बीएचएमएस की शैक्षिक योग्यता

BHMS कोर्स करने के लिये आप की शैक्षिक योगिता 12वीं कक्षा में P.C.B होना जरुरी है, अर्थात फिजिक्स  केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी विषय के साथ 50% अंकों के साथ पास होना जरूरी है, और इस के साथ अंग्रेजी विषय एक सब्जेक्ट होना जरुरी है। 

BHMS कोर्स मे एडमिशन लेन के लिये आप की उम्र 17 की होनी चाहिये।

BHMS बीएचएमएस कोर्स की अवधि: 

BHMS बीएचएमएस कोर्स करने की अवधी 4 से 5 साल की होती है, जिसमें 1 साल का इंटर्नशिप होता है।  

BHMS बीएएमएस की फीस:

सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज की अपेक्षा कम होती है, इसकी फीस लगभग 2 से 3 साल के बीच होती है।  

BHMS बीएचएमएस Top कॉलेज

  1. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ होमियोपैथी कोलकाता (National Institute of homeopathy, kolkata)
  2. भारती विद्यापीठ होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज-पुणे, महाराष्ट्र (Bharati vidyApeeth homeopathic Medical College Pune)
  3. गवर्नमेंट होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल बेंगलुरु (Bengaluru) कर्नाटक (Government Homeopathic Medical College Bangalore)
  4. पं. खुशीलाल शर्मा आयुर्वेदिक हॉस्पिटल भोपाल (P.T Khushilal sharma Goverment Ayurveda College Bhopal)
  5. बाबा फरीद युनिवर्सिटी ऑफ़ हेल्थ साइंसेस फरीदकोट, पंजाब (Baba Farid University of health science Faridkot)

BHMS बीएएमएस के बाद रोजगार के अवसर 

अगर आप BHMS डिग्री कर लेते हो तो उसके बाद काफी रोजगार के अवसर खुल जाते है जैसे –

  • मेडिकल कॉलेज Medical Colleges
  • चैरिटेबल इंस्टिट्यूट Charitable Institute
  •  क्लिनिक Clinic
  • होम्योपैथिक मेडिकल स्टोर Homeopathic Medicine Store
  • रिसर्च इंस्टीटूट्स Research Institutes
  • कंसल्टेंसी Consultancies
  • ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट Training Institutes
  • जीव विज्ञान संस्थान Life Science Institute
  • कम्युनिटी हेल्थ सेंटर Health Care Community
  • औषध उद्योग Pharmaceutical industry
  • सरकारी और प्राइवेट अस्पताल Government Private Hospitals
  • नर्सिंग होम Nursing Home
  • डिस्पेंसरी Dispensaries

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख के द्वारा आप को यह ज्ञात हो गया होगा कि डॉक्टर (Doctorकैसे बनते है? डॉक्टर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होनी चाहिए? ऐसी बहुत सी जानकारी इस लेख के द्वारा बताया गया है, जैसे NEET की तयारी कैसे करे, अगर आप डॉक्टर बनाना चाहते है तो आप को कौन से बुक पढ़नी चाहिए आदि बहुत सी जानकारी इस लेख मे बतया गया है आशा ये लेख आपको जरूर पसंद आया होगा अगर हा तो इस लेख को आपने मित्रों को जरूर शेयर करे।  

यह भी पढ़ें :

Doctor Kaise Bane NEET एंट्रेंस एग्जाम डॉक्टर कैसे बने

You Might Also Like

1 thought on “डॉक्टर (Doctor) कैसे बने? योग्यता NEET एंट्रेंस एग्जाम”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

प्रिय पाठको इस वेबसाइट का किसी भी प्रकार से केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा किसी सरकारी संस्था से कोई लेना देना नहीं है| हमारे द्वारा सभी जानकारी विभिन्न सम्बिन्धितआधिकारिक वेबसाइड तथा समाचार पत्रो से एकत्रित की जाती है इन्ही सभी स्त्रोतो के माध्यम से हम आपको सभी राज्य तथा केन्द्र सरकार की जानकारी/सूचनाएं प्रदान कराने का प्रयास करते हैं और सदैव यही प्रयत्न करते है कि हम आपको अपडेटड खबरे तथा समाचार प्रदान करे| हम आपको अन्तिम निर्णय लेने से पहले आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करने की सलाह देते हैं, आपको स्वयं आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके सत्यापित करनी होगी| DMCA.com Protection Status