Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now
---Advertisement---

बायोटेक्नोलॉजी क्या है? कैसे बने?

By Admin Team

Published On:

Follow Us
---Advertisement---

बता दें कि आज बायोटेक्नोलॉजी में काफी बड़ा स्कोप है। बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग और BSc के अंतर्गत एक स्ट्रीम है, जिसे साइंस में 12वीं पूरी करने के बाद किया जा सकता है।

हालांकि दसवीं के बाद वाले इसमें डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं। यदि आपने बायोटेक्नोलॉजी का नाम सुना है और इसकी थोड़ी नॉलेज जानकर ही आप इस फिल्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं,

तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बायोटेक्नोलॉजी क्या है, इसमें करियर कैसे बनाएं,  इसकी पूरी जानकारी डिटेल में देंगे।

बायोटेक्नोलॉजी क्या है, इन हिंदी

बायोटेक्नोलॉजी को जरनली बायोटेक भी कहा जाता है, ये बायोलॉजी और टेक्नोलॉजी के कॉम्बिनेशन होता है। इसके अंतर्गत एग्रीकल्चर, फ़ूड, मेडिसिन्स, फार्मास्युटिकल, एनवायरनमेंट, हेल्थ केयर, मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री जैसे कई तरह के फील्ड अवेलेबल है ।

इस स्ट्रीम के अंतर्गत आर्गेनिज्म और बायोलॉजिकल सिस्टम की स्टडी की जाती है। इसमें सेलूलर और बायोमोलिक्युलर प्रोसेस के तहत लिविंग आर्गेनिज्म या फिर इसके कुछ हिस्से को यूज़ कर डेली लाइफ के लिए कई तरह के प्रोडक्ट को बनाया जाता है।

आज के टाइम में हर मौसम में हर तरह वेजिटेबल्स और फ्रूट्स का मिलना, कोरोना जैसे कई बीमारियों के उपचाऱ के लिए हेल्थ केयर प्रोडक्ट और वैक्सीन का अवेलेबल होना और बड़ी बड़ी केमिकल या ऑयल इंडस्ट्री में मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस बायोटेक्नोलॉजी का काफ़ी बड़े लेवल पर इस्तेमाल से पॉसिबल हो पाया है।

See also  Arts Student 12th के बाद क्या करे - Courses + Job

एक बायोटेक इंजीनियर क्या काम करता है?

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद बायोटेक इंजीनियर बैचलर और मास्टर डिग्री के स्पेशलाइजेशन के बेस पर किसी भी रिलेटेड फील्ड में एनालिसिस, इनोवेशन, मैन्युफैक्चरिंग और डेवलपमेंट का काम करते है।

इसे इस तरह से समझिए एक बायोटेक इंजीनियर मेडिसिन या किसी भी प्रोडक्ट को बनाने के लिए बायोटेक्निक सिस्टम और लिविंग आर्गेनिज्म की स्टडी करता है।

नई-नई तकनीक का यूज़ करक जैविक प्रयोग के लिए कई प्रक्रियाओं के साथ इन्वेंशन और एनालिसिस करता है। कई मेडिकल इंस्ट्रूमेंट को चलाने के लिए सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट करता है।

प्रोडक्ट के फौल्ट को ठीक करना और उसकी कैपेसिटी पर काम करता है, आदि।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स कैसे करें?

यदि आपक़ो बायोटेक्नोलॉजी में करियर बनाने का मन है तो आप 10वीं के बाद भी बायोटेक में डिप्लोमा कोर्स कर सकते है और यदि आप 12वीं के बाद बायोटेक्नोलॉजी का कोर्स करना चाहते हैं,

तो BSc में बायोटेक्नोलॉजी करने के लिए आपके 12वीं में  फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी (PCM) या फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स (PCB) या फिर फिजिक्स, केमिस्ट्री मैथमेटिक्स के साथ बायोलॉजी (PCMB) में कम से कम 50% मार्क्स होने चाहिए।

इसके बाद आप किसी भी अच्छी यूनिवर्सिटी से एंट्रेंस एग्जाम या मेरिट लिस्ट के थ्रू BSc में बायोटेक्नोलॉजी कोर्स कर सकते हैं और यदि आप BTech के बायोटेक्नोलॉजी स्ट्रीम में एडमिशन लेना चाहते है,

तो आपको DUET, CUET, JMIEE, IIT-JAM और AIIMS जैसे एंट्रेंस एग्जाम क़ो क्लियर करना होगा, इसके रैंक के बेस पर ही आप बायोटेक्नोलॉजी में BTech कर सकते है।

See also  12th के बाद पायलट कैसे बने? पूरी जानकारी

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स कितने साल का होता है?

बायोटेक्नोलॉजी डिप्लोमा कोर्स 2 साल का और BSc कोर्स 3 साल का और BTech कोर्स 4 साल का होता है। BSc बायोटेक्नोलॉजी कोर्स पूरी करने के बाद यदि आप आगे भी पढ़ना चाहे तो आगे 2 साल  का MSc बायोटेक्नोलॉजी और फिर PHD भी कर सकते है।

जबकि बायोटेक्नोलॉजी में BTech करने के बाद MTech भी कर सकते है। बता दे के बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के अंतर्गत चार ब्रांच डिवाइड है जिसमें ग्रीन बायोटेक्नोलॉजी में एग्रीकल्चर एप्लीकेशन,

व्हाइट बायोटेक्नोलॉजी में इंडस्ट्रियल एप्लीकेशन येलो बायोटेक्नोलॉजी में मरीन एंड एक्वेटिक एप्लीकेशन और रेड बायोटेक्नोलॉजी में मेडिकल एप्लीकेशन शामिल है।

बायोटेक्नोलॉजी में क्या स्कोप है?

आज के टाइम में बायोटेक्नोलॉजी के स्टूडेंट्स के लिए नौकरियों का काफ़ी बड़ा स्कोप है, क्योंकि लगभग हर क्षेत्र में बायोटेक्नोलॉजी का यूज़ होने लगा है।

बायोटेक्नोलॉजी करने के बाद स्टूडेंट के लिए गवर्नमेंट ओर प्राइवेट  दोनों सेक्टर के जॉब पा सकते है। बता दें कि बायोटेक स्टूडेंट, रिसर्च साइंटिस्ट,  माइक्रोबायोलॉजिस्ट,  बायोटेक्नोलॉजिस्ट, लैब टेक्नीशियन, बायोकेमेस्ट्र, बायो फूड सेफ्टी टेक्नीशियन,  मेडिकल राइटर,  क्लिनिकल रिसर्च एसोसिएट,  प्रोडक्शन मैनेजर, फार्मास्यूटिकल  रिसर्च टेक्निशियन, कैंसर बायोलॉजिस्ट, बायोमेडिकल इंजीनियर, बायो मैन्युफैक्चरिंग स्पेशलिस्ट जैसे कई पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 

FAQ अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

बायोटेक इंजीनियर की कितनी सैलरी होती है?

बायोटेक इंजीनियर की स्टार्टिंग सैलरी कम से कम ₹25 से ₹30 हज़ार तक होते है। हालांकि एक्सपीरियंस, कंपनी और जॉब प्रोफाइल के अनुसार के आधार पर आपकी सैलरी इससे ज्यादा भी हो सकते है।

बायोटेक्नोलॉजी से कौन-कौन से फील्ड में करियर बनाया जा सकता है?

फार्मास्यूटिकल कंपनी, फूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री, हेल्थ केयर मैन्युफैक्चरिंग,  एग्रीकल्चर डेवलपमेंट कंपनी,  एनिमल हसबेंडरी,  रिसर्च लैबोरेट्री, मेडिसिन लाइन एजुकेशन एरिया जैसे कई फील्ड में बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के बाद आसानी से करियर बनाया जा सकता है।

See also  बीटेक क्या है? कैसे करें || पूरी जानकारी

बायोटेक्नोलॉजी के कोर्स फीस कितनी है?

यदि आप बैचलर ऑफ साइंस इन बायोटेक्नोलॉजी यानि कि BSc या डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं, तो आपको ₹50 हज़ार से ₹2 लाख तक की फीस देनी होगी। वहीं अगर BTech के लिए बात करें, तो ये फीस ₹80 हज़ार से ₹8 लाख तक हो सकता है।

बायोटेक कोर्स सिलेबस में क्या होता है?

बायोटेक कोर्स सिलेबस के अंतर्गत इंट्रोडक्शन तो बायोटेक्नोलॉजी, बायोमोलीक्यूलिस एंड सेल्स बायोलॉजी, जेनेटिक इंजीनियरिंग, बायो प्रोसेसिंग एंड बायो मैन्युफैक्चरिंग, बायोमेडिकल एप्लीकेशंस,एग्रीकल्चर एंड एनवायरमेंटल एप्लीकेशंस, एथिकल लीगल एंड सोशल इश्यू आदि आते है।

बायोटेक इंजीनियरिंग के लिए बेस्ट कॉलेज कौन सा है?

यदि आप बायोटेक इंजीनियरिंग करने के लिए बेस्ट कॉलेज की तलाश में है, तो बता दे कि IIT खड़गपुर, दिल्ली,रुड़की, NIT राउरकिला, दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी,  चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ़ साइंस टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी चेन्नई, VIT वेल्लोर आदि है।

तो दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बायोटेक्नोलॉजी क्या है, हिंदी में बताये, पर इसकी डिटेल जानकारी दी है। यदि अब भी आपको बायोटेक्नोलॉजी से रिलेटेड कोई और जानकारी चाहिए हो, तो कमेंट करें और यदि आपका कोई करीबी बायोटेक्नोलॉजी में करियर बनाना चाहता है, तो उसके साथ इस आर्टिकल को शेयर करें।

यह भी पढ़ें :

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

प्रिय पाठको इस वेबसाइट का किसी भी प्रकार से केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा किसी सरकारी संस्था से कोई लेना देना नहीं है| हमारे द्वारा सभी जानकारी विभिन्न सम्बिन्धितआधिकारिक वेबसाइड तथा समाचार पत्रो से एकत्रित की जाती है इन्ही सभी स्त्रोतो के माध्यम से हम आपको सभी राज्य तथा केन्द्र सरकार की जानकारी/सूचनाएं प्रदान कराने का प्रयास करते हैं और सदैव यही प्रयत्न करते है कि हम आपको अपडेटड खबरे तथा समाचार प्रदान करे| हम आपको अन्तिम निर्णय लेने से पहले आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करने की सलाह देते हैं, आपको स्वयं आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके सत्यापित करनी होगी| DMCA.com Protection Status