पैदल चलने के फायदे क्या है जाने सम्पूर्ण जानकारी

पैदल चलना (walking): ” पैसे कमाने के लिए दिनभर काम करना जितना जरूरी है उससे ज्यादा जरूरी है खुद के लिए वक्त निकालकर टहलना या चलना “

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में ALLGOVTJOBSINDIA आप को पैदल चलना स्वास्थ के लिये कितना फयदेमंद है इस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में दे रहा है, आशा है आप को ये लेख जरूर बहुत पसंद आये गए

पैदल चलना हमारे इस खुबसूरत से बेहद कीमती जीवन का महत्वपूर्ण भाग है। यहां यह कहना उचित होगा कि पैदल चलने की इस आदत को जिसने अपने जीवन का हिस्सा बना लिया हो उसने मानो अपने सम्पूर्ण जीवन की आधी बीमारियों का इलाज खुद ही कर लिया हो ।

इससे हमारा सेहत और स्वास्थ्य दोनों तो ठीक होते ही हैं साथ ही हमें डॉक्टर्स की जरूरत भी नहीं के बराबर होती है साथ ही हम जो छोटी छोटी बीमारियों के लिए जो खर्चे और समय बर्बाद करते हैं उससे भी बच जाते हैं।

और पैदल चलने से न केवल ये सभी फायदे बल्कि इसके अलावा हमारा दिनचर्या भी बहुत अच्छा यानी सकारात्मक होता है और सोचने की क्षमता भी बढ़ती है ।

इसे आप अपने जीवन में रोजाना लगभग 15 से 30 मिनट की चलने के समय से अनुभव कर सकते हैं काफी लोगों का यह भी मानना है कि चलना एक बेहतरीन शारीरिक गतिविधि है जो हमारे दिमाग से लेकर भौतिक गतिविधियों और आंतरिक गतिविधियों दोनों का अच्छा नियंत्रक भी है ।

जैसे यह हमारी मांसपेशियों, जोड़ों, हड्डियों, जैसे क्रियाओं को नियंत्रित रखते हैं । केवल 15 मिनट के चलने महज से अगर हमारी अच्छी सेहत के साथ साथ हमें आंतरिक खुशी और तनावमुक्त जीवन मिल रहा है तो क्यों न हम इसे अपने जीवन हिस्सा बना लें।

रोग भी दूर और जीवन भी स्वस्थ और खुशहाल जीवन के साथ ही पैसे की भी बचत होगी । इन सब में मुझे ये सबसे ज्यादा अच्छा लगता है कि अगर केवल चलने से ही इतने सारे लाभ मिल रहे हैं तो क्यों हम घर में बैठ कर बीमार को अपने जीवन में न्यौता दे कर फालतू पैसा बर्बाद करे।

जहां तक मेरा ख्याल है क्यों न इस छोटे से काम को अपने जीवन का एक हिस्सा बनाकर स्वस्थ और बेहतर जीवन जिएं ।

अच्छे स्वास्थ्य को हम ख़रीद नही सकते पर यह अत्यंत मूल्यवान बचत खाता हो सकता है “

पैदल चलने का सबसे अच्छा समय होता है भोर का समय यानी 4 बजे या सुबह 5-6 बजे के बीच क्योंकि इस समय सुबह की ताजी और ठंडी हवा शुद्ध ऑक्सीजन और ओस की खूबसूरत से बेहद कीमती बूंदों से सभी सकारात्मक प्राकृतिक ऊर्जाएं हमें अपने सकारात्मक ऊर्जा से भरते हैं और हम रोज एक नई शक्ति का अनुभव कर पाते हैं।

पैदल चलने के तरीके

केवल चलना ही काफी नहीं है पैदल चलने के भी कई तरीके है और रही बात फायदे की तो फायदे हमें तभी मिलते हैं जब हम चीजों को सही तरीके से करते हैं और जब अब हम ये जानते हैं कि पैदल चलना हमारे स्वस्थ और बेहतर जीवन का अहम हिस्सा है तो अब हमें ये जानना भी बहुत जरूरी है कि हमें फायदा किसमें है कैसे हमें फायदे को लेना है –

A. नंगे पांव चलना

हमारे शरीर की बनावट में अगर देखा जाए तो हमारे शरीर का कोई भी अंग फालतू नहीं है सबके अपने अपने एक विशेष कार्य हैं। ठीक उसी तरह हमारा पैर भी है सृष्टिकर्ता ने इसे भी एक विशेष कार्य के लिए ही रचा है।

“हर व्यक्ति अपना स्वास्थ्य खुद ही बनाता है स्वस्थ शरीर ही हमारे लिए सबसे बड़ा उपहार है स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी संपत्ति है ।”

अब आप सोच रहे होंगे कि पैर का काम तो स्पष्ट है चलना । लेकिन आपको ये जानकर खुशी होगी कि ये पैर चलने के अलावा और भी बहुत से काम कर सकता है और इन सबसे बेहतरीन बात तो यह है कि ये हमें कई रोगों से बचाता है ।

यानी ये कहा जा सकता है कि ये हमारे शरीर का ऐसा अंग है जिससे हम अपने सम्पूर्ण शरीर को स्वस्थ और तंदुरुस्त रख सकते हैं और छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी बीमारियों का इलाज हम अपने पैरों से कर सकते हैं और अपने अच्छे सेहत के साथ साथ अपनी आर्थिक बचत भी कर सकते हैं।

आज के इस बढ़ती मंहगाई की स्थिति में सब चाहते हैं कि उनकी आर्थिक लाभ ज्यादा और खपत कम हो । और आज की स्थिति में हर घर में एक न एक रोगी व्यक्ति जरूर होता है ।और इसमें कोई शक नहीं कि आज हमारे आर्थिक लाभ का कम से कम 20%या उससे भी ज्यादा सिर्फ इलाज़ ही कराने में खर्च हो जाता है ऐसे में आर्थिक बचत के तरीकों में से ये नंगे पांव चलना भी एक बेहद ही आसान और बेहतर तरीका है ।

लेकिन आज की ये पीढ़ी इन सभी बातों की ओर अपना ध्यान नहीं लगाते और कई बार तो ऐसा होता है कि लोगों के सामने खुद की ज्यादा इनकम दिखाने के चक्कर में छोटी छोटी बातों में भी दवाइयों का सहारा लेते हैं लेकिन असल में लोगों को दिखावे की नहीं समझदारी की जरूरत है हमारे बड़े बीमारियां भी एक छोटी सी अच्छी आदत डालने से दूर हो सकती है ।

लेकिन लोग इन अच्छी आदतों के लिए समय निकालना छोड़ कर बेकार के बातों जैसे टीवी देखना , ,मोबाइल चलाना, बैठकर फालतू के गप्पे मारना आदि में अपना समय गवांकर बीमारियों को न्यौता देते और फिर इन्हीं लापरवाहियों की वजह से लोग कई बीमारियों के शिकार हो जाते हैं।और फिर खराब सेहत के साथ पैसों की बर्बादी भी शुरु हो जाती है। लेकिन यदि आप अपने थोड़े समय को निकालकर नंगे पांव चलने की आदत को अपने जीवन हिस्सा बनाएं तो कई छोटे बड़े और खतरनाक बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं और इससे कई लाभों का फायदा आप ले सकते हैं ।

नंगे पांव पैदल चलने के फायदे

पैदल चलने के बहुत से फायदे हैं इस से हमारे जीवन के सम्पूर्ण क्षेत्र यानी शरीर के बाहरी और भीतरी दोनों क्रियाकलापों को नियंत्रित रहते हैं इसके कुछ बिंदु नीचे दिए जा रहे हैं –

1.संपूर्ण अंगों पर सकारात्मक प्रभाव

जब हम नंगे पांव चलते है तो हमारे शरीर का पूरा भार हमारे पैरों पर पड़ता है और ऐसे में हमारे पैर का संपर्क पृथ्वी से होता है और पृथ्वी में कई चुंबकीय बल कार्य करते हैं चूंकि हमारे पैर के तलुए में हमारे शरीर के हर अंग से संबंधित एक्यूप्रेशर रिफ्लैक्स प्वाइंट होते हैं जब हमारे पैर पृथ्वी के संपर्क में आते हैं तो इनपर बेहद सकारात्मक प्रभाव पड़ता है जिससे सभी अंग पुरे तरीके से विकसित हो पाते हैं।

2.रक्त संचार

हमारे पूरे शरीर का सारा क्रियाकलाप रक्त संचार पर निर्भर होता है यदि हमारे शरीर में रक्त संचार सुचारू रूप से न हो तो हमारी शारीरिक क्रियाओं में कई बाधाएं उत्पन्न होने लगती है जैसे सुजन,दर्द, ऐंठन आदि । पैदल चलने से पूरे शरीर रक्त संचार तेजी से होने लगता है जिससे हमारे विभिन्न अंगों तक रक्त और ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में पहुंचते हैं ऐसे में हमारे दिमाग को ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन मिलता है और दिमाग तंदरुस्त रहता है जिससे हमारे अंग भी सुचारू रूप से कार्य करने लगते हैं।

3.इलेक्ट्रिकल तरंगों पर प्रभाव

ये बात हम सब जानते हैं कि हमारे शरीर का लगभग 65%भाग पानी है और पानी विद्युत का अच्छा सुचालक है। हमारे शरीर पर अर्थिंग का सिस्टम कार्य करता है । और इससे हमारे शरीर में कई तरह के इलेक्ट्रिकल तरंगे बनती हैं जो अंदरूनी तंत्र की क्रियाओं से जुड़ी होती हैं ऐसे में जब हमारे पैर जमीन पर पड़ते हैं तो पृथ्वी के विभिन्न आयन और तरंगे हमारे शरीर के अंदर प्रवेश करते हैं और सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न करते हैं ।

कई तरह के रिसर्च से यह स्पष्ट हुआ है कि जमीन पर नंगे पांव चलने से शरीर के विभिन्न क्रियाओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है विशेषज्ञों ने इसे अर्थिंग सिद्धांत का नाम दिया है ये ठीक उसी तरह कार्य करता है जिस तरह रेडियो ,टेलीविजन केबल कपनियां इलेक्ट्रिकल सिग्नल्स को स्थिर करने के लिए जमीन की अर्थिंग का प्रयोग करती हैं।

4.बायोइलेक्ट्रिकल प्रकृति पर प्रभाव

हमारे शरीर की जो प्रकृति है वो एक तरह से बायोइलेक्ट्रिकल प्रकृति है मतलब हमारे शरीर की सभी कोशिकाएं व तंत्रिका तंत्र भीतरी विद्युत शक्ति ऊर्जा के स्पंदन से संचालित होते हैं। और इस पर कोई संकोच नहीं कि पृथ्वी अपने आप में ऊर्जा का भंडार है वैज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी का ऊर्जा चक्र शरीर के विद्युत तंत्र पर भी अपना प्रभाव डालता है। जिससे शरीर का जो भाग इन बायोलेक्ट्रिकल प्रकृति से संबंधित होता है उसपर एक साकारात्मक प्रभाव पड़ता है।और सभी कोशिकाएं व तंत्रिका तंत्र इनसे प्रभावित होकर अधिक और अच्छे से विकसित हो पाते हैं और अपना करता सुचारू रूप से करते हैं।

5.मन की शांति

हमारे शारीरिक स्वास्थ्य के साथ ही साथ हमारे मन की शांति भी बेहद महत्वपूर्ण है । हमें मानसिक रूप स्वस्थ रहने के लिए मन की शांति का होना उतना ही जरुरी है जितना शारीरिक रूप से ,ऐसे में पैदल चलना हमारे मन की शांति के लिए एक बेहतरीन माध्यम हो सकता है। क्योंकि जब हम पैदल चलते हैं तो हम खुद को ढूंढ पाते हैं ,खुद से बातें करते हैं, ऐसे में प्रकृति सकारात्मक ऊर्जा से हमें भरती है । जिस से हम अपने जीवन के कई फैसलों को शांत मन से सोच विचारकर और फिर सकारात्मक चीजों को अपने विचारों में भरकर सही दिशा की ओर बढ़ने लगते हैं,और हम सही फैसलों को अपने भविष्य के लिए कर पाते हैं।

6.मजबूत हृदय

रोजाना पैदल चलने से हमारे शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ने से कोलेस्ट्रॉल कम हो जाता है कोलेस्ट्रॉल कम होने से ब्लड वेसल्स में कोलेस्ट्रॉल जमने की संभावना कम हो जाती है और हार्ट अटैक की संभावना कम हो जाती है क्योंकि बैड कोलेस्ट्रोल हृदय रोग के लिए जिम्मेदार होते हैं हृदय मजबूत बनता है हृदय की मांसपेशियां मजबूत बनती है पैदल चलना हृदय के लिए सबसे अच्छा एक्सरसाइज होता है । हृदय मजबूत होने से बहुत से 40%दिल की बिमरियों के होने का खतरा कम हो जाता है। खासकर हार्ट अटैक का खतरा बहुत कम हो जाता है।

7. रचनात्मकता में वृद्धि

पैदल चलने से हमारे पैर का सम्पर्क भूमि से होता है हम जब पैदल चलते हैं तो उबड़ खाबड़ सतह में हमारे पैर पड़ने से हम संभल कर चलते हैं जिससे हमारी एकाग्रता बढ़ती है और हम अपने दिमाग को एकाग्र कर पाते हैं । और हममें सहनशीलता और धीरज और मन को केंद्रित करने की शक्ति बढ़ती है। पैरों के जमीन के ठंडे प्रकृति के संपर्क में आने से हमारा मन प्रकृति की सकारात्मक ऊर्जाओं से प्रेरित होकर अधिक गहराई से सोच पाता है और बेहतर कार्य करने में सक्षम हो पाता है।

8. गर्भपात की संभावना में कमी

महिलाओं की बात करें तो इन्हे हर महीने महावारी से संबंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है ऐसे में जब हम सुबह खाली पैर चलते हैं तो महावारी के समय होने वाले कमजोरी, ऐंठन,कमर दर्द, पेट दर्द जैसी समस्याओं से काफी राहत मिलती इससे गर्भपात होने की संभावना कम हो जाती है। गर्भावस्था के दौरान धीरे धीरे पैदल चलने से नॉर्मल डिलीवरी की संभावना बढ़ जाती है।

9. नियमित ब्लड प्रेशर

पैदल चलने से हमारा ब्लड प्रेशर नियमित रहता है ब्लड प्रेशर के कारण किडनी खराब होने , हार्ट अटैक, स्ट्रोक का खतरा बना होता है इसलिए ब्लड प्रेशर के रोगी के लिए यह दवा का काम करता है ऐसे लोगों लगभग 30-60 मिनट पैदल चलना चाहिए।

10.डायबिटीज का नियंत्रण

पैदल चलना डायबिटीज के बीमारी को नियंत्रित करने के लिए बहुत अधिक लाभदायक होता है इसके रोगियों को वैज्ञानिक लगभग 5000 कदम रोजाना चलने की सलाह देते हैं । ऐसा करने से ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है साथ ही जिन्हे ये रोग नहीं है वे अगर रोज पैदल चलते हैं तो उनमें डायबिटीज होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।साथ ही ये भी देखा गया है कि इंसुलिन ले रहे मरीज भी रोजाना पैदल चलने से स्वस्थ होने लगते हैं।

11.मानसिक स्वास्थ्य

यदि हम रोजाना 30 मिनट तक पैदल चलते हैं तो हमारे ब्रेन में स्थित हाइपोथैलेमस से एंडोर्फिन नाम का गुड फील हार्मोन निकलता है जो हमें गुड फीलिंग यानि अच्छा महसूस कराता है इसके साथ ही लगातार पैदल चलने से एक और केमिकल निकलता है सेरोटोनिन यह हमारे मूड को अच्छा करता है ये केमिकल हमें खुशी देने का काम करता है। जब हम सुबह के समय नंगे पांव चलते हैं तो यह केमिकल हमारे पूरे दिन को अच्छा बना देता है । और मानसिक तनाव कम हो जाता है मानसिक तनाव से बहुत बीमारियां जैसे हार्ट प्रॉब्लम, डायबिटीज, मोटापा, डिप्रेशन आदि लेकिन पैदल चलने से इन सभी प्रकार के बीमारियों का खतरा कम होता है क्योंकि पैदल चलने से स्ट्रेस पैदा करने वाले हार्मोन रिलीज़ होना कम हो जाते हैं।

12. मज़बूत फेफड़े

पैदल चलने से फेफड़े मज़बूत होते हैं क्योंकि पैदल चलते वक्त फेफड़ों में अधिक ऑक्सीजन जाता है जो हमारे फेफड़ों के क्षेत्रों को खोलता है और ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता को बढ़ाता है।और ये मजबूत कैसे होगा जब हम पैदल चलते हैं तो अधिक से अधिक सांस लेते हैं और अधिक सांस लेने से हमारी लंग्स ellie जो है वो अधिक से अधिक डायलेट होती हैं और अधिक ऑक्सीजन हमारे शरीर में प्रवेश करता है और हम जितना अधिक सांस लेंगे उतना ही अधिक हम सांस भी छोड़ेंगे जिससे कार्बन डाइऑक्साइड हमारे शरीर से उतने ही अधिक मात्रा में बाहर निकलेंगे। ऐसा होने से हमारे फेफड़े मजबूत बनते हैं।

13. रेस्टिंग हार्ट रेट में कमी

पैदल चलने से रेस्टिंग हार्ट रेट कम हो जाता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दिल की मांसपेशियां मज़बूत होने से दिल को पूरे शरीर में खून पंप करने के लिए कम जोर लगाना पड़ता है जिससे रेस्टिंग हार्ट रेट कम हो जाता है।

14. बॉडी फिटनेस

हमारी बॉडी का फिट रहना भी हमारे लिए बहुत जरूरी है यदि हम रोजाना पैदल चलते है तो हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ जाता है और ऐसा करके हम रोज 200 कैलोरी बर्न कर सकते हैं। इससे हमारा बॉडी फिट रहेगा और मोटापे से बचे रहेंगे और हमारी शारीरिक बनावट फिट होगी।

15. जोड़ों में दर्द से राहत

पैदल चलना जोड़ो में दर्द से राहत के लिए बेहद फायदेमंद है क्योंकि पैदल चलने से जोड़ों पर ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। जिससे जोड़ों के दर्द धीरे धीरे खत्म होने लगते हैं। कई बार ऐसा होता है कि लगातार हम आराम ही करते हैं यानी चलते ही नहीं या बहुत कम चलते हैं इससे शरीर के जो जोड़ हैं उनमें मूमेंट कम या न के बराबर होता है जिससे वे धीरे धीरे जाम हो जाती हैं जिसकी वजह से उन स्थानों पर खून का बहाव कम हो जाता है और फिर दर्द होने लगता है। ऐसे में जब हम पैदल चलते हैं तो ये खुलने लगते हैं और और ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छा होने लगता है और उन जोड़ों के बीच पहुंच कर जोड़ों के उन स्थानों को खोलता है और जोड़ों के दर्द धीरे से खत्म हो जाते हैं।

16. हड्डियों की वृद्धि

रोजाना पैदल चलने से हड्डियों की वृद्धि होती है जो छोटे बच्चे होते हैं उनके ऊंचाई के बढ़ने के लिए 30 मिनट पैदल चलने की आदत लाभदायक है यदि आप भी अगर चाहते हैं कि आपके बच्चे की हाइट अच्छी हो तो आप अपने बच्चे के दिनचर्या में पैदल चलने की आदत अवश्य डालें ये आदत सुबह खाली पैर चलने की डालें तो ज्यादा लाभदायक होता है। क्योंकि लगातर पैदल चलने से हमारे शरीर में ग्रोथ हार्मोन सिक्रेट होता है और इस हार्मोन के सिक्रेट होने से ये हमारे हड्डियों में मिनरेलाइजेशन को बढ़ाता है जिससे हमारी हड्डियां मजबूत बनती हैं इसी तरह बुढ़ापे की अवस्था को देखें तो बुजुर्गों को पैदल चलना इसलिए जरूरी है कि बुढ़ापे के समय शरीर का जो कैल्शियम बाहर जाता है उसे ये प्रीपेंड करने का काम करता है ।साथ ही ये osteoporosis के खतरे को कम करता है इस तरह ये हमारे हड्डियों के वृद्धि तथा मजबूती के लिए भी अत्यंत आवश्यक है ।

17. पीठ दर्द से राहत

पैदल चलने से पीठ से संबंधित दर्द आदि परेशानियों से राहत मिलती है रोजाना पैदल चलने से पीठ की जो रीढ़ की हड्डी है वहां पर ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और पीठ दर्द से राहत मिलती है।

18. आंख की रोशनी

लगातर सुबह खाली पैर जब हम पैदल चलते हैं तो हमारी आंखों की रोशनी बढ़ती है बुजुर्गों का कहना है कि जब हम सुबह खाली पैर ओस से भीगी घास पर चलते हैं तो हमारी आंख की रोशनी बढ़ जाती है और ऐसा भी माना जाता है कि लगातर ऐसा करने से जिन्हे चश्में लगे होते हैं उनके चश्में का पावर नंबर कम हो जाता है और जिन्हें कम नंबर का चश्मा लगा होता है उनके चश्में उतर जाते हैं। इस तरह खाली पैर चलने से हम अपने आंखों की रोशनी को बरकरार बनाए रख सकते हैं।

19. कब्ज की बीमारी से राहत

यदि आप कब्ज के रोगी हैं तो आपको रोजाना 4-5 किलोमीटर पैदल अवश्य ही चलने की आदत डालनी चाहिए। ऐसा करने से पाचन क्रिया सही रहती है ,इससे पेट साफ होता है ,पैदल चलने से इंटेस्टिव में जो डाइजेस्टिव ग्लैंड होती वो डाइजेस्टिंग एंजाइम्स को रिलीज़ करता है । जिससे सभी प्रकार के खाद्य पदार्थों का पाचन अच्छे से होता है। साथ ही ये हमारे बॉडी के इंटेस्टाइन में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। इस कारण जो खाना हमारे इंटेस्टाइन में फंस जाता है उसे भी आसानी से पास करने में मदद करता है । इस तरह ये हमारे पाचन क्रिया को सही बनाए रखने में भी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। क्योंकि यदि देखा जाए तो हमारे जीवन की बहुत से बीमारियां सही ढंग से पाचन न होने की वजह से होता है।

20. याददस्त बढ़ाना

याददस्त बढ़ाने में पैदल चलना एक बेहतरीन तरीका है जब हम पैदल चलते हैं तो हमारे ब्रेन में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और ब्लड सर्कुलेशन के बढ़ने से हमारे दिमाग के जो न्यूरॉन्स है उनके बीच में जो सिनेप्स होते हैं वो अच्छे से बनेंगे और उनके जो पावर हैं वो नियंत्रित रहेंगे और इन सिनेप्स के बढ़ने से हमारी जो यादददस्त है वो भी बढ़ेगी और हम चीजों को अच्छे से याद रख पाएंगे ।खासकर जो पढ़ने वाले बच्चे हैं उन्हें ये अवश्य ही होने चाहिए जिससे वे पहले के पढ़े हुए चीजों को अच्छे याद रख सकें।

21. प्रतिरक्षा तंत्र को बढ़ाने में

पैदल चलने से हमारे शरीर की प्रतिरक्षा तंत्र की जो शक्ति है ,वो बढ़ती है जब हम पैदल चलते हैं तब हमारे पुरे शरीर में ,हमारे ब्रेन में , और हमारे हड्डियों तथा जोड़ों में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।जिससे कि शरीर के जिस भाग में प्रतिरक्षा तंत्र बनता है वहां उनकी शक्ति बढ़ेगी और हमारे शरीर में इम्यून पावर बढ़ेगा।और विभिन्न प्रकार के बाहरी वायरस बैक्टीरिया या रोगजनक जो हमारे शरीर पर आक्रमण करते हैं उनसे हमारी रक्षा करने में अधिक सक्रिय होगा ।साथ ही बदलते मौसम आदि से होने वाले छोटे मोटे संक्रमण से या संक्रमित बीमारी से या उनके खतरे से बचे रहेंगे इस तरह से ये हमारे इम्यून पावर को बढ़ाने में मदद करता है क्योंकि इस आज की इस बढ़ती प्रदूषित वातावरण में हमें अनुकूलित करने के लिए मज़बूत इम्यूनिटी पावर का होना बहुत जरूरी है।

22.मजबूत मांसपेशियां

पैदल चलने से हमारी मांसपेशियां मजबूत होती हैं तथा इनका विकास भी सही ढंग से होता है शरीर के पुरे हिस्से में मांसपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन तेजी से होता है और हमारी मांसपेशियों को सही एवम निश्चित आकार मिलता है जिससे हमारा शारीरिक बनावट अत्यधिक आकर्षक एवम सुंदर बनता है ।

24. बुढ़ापे के समय को कम करना

जब हम पैदल चलते हैं शरीर का सारा नियंत्रण सही तथा पूर्ण रुप से होने से हमारे बूढ़े होने के समय घट जाते हैं। नियंत्रित रक्त संचार, मजबूत मांसपेशियां, मजबूत हृदय, नियंत्रित पाचन क्रिया ,आदि जितने फायदे पैदल चलने के हैं ये सभी हमारे बूढ़े होने के समय को कम करके हमें लंबे समय तक जवान दिखने और रहने में अपना बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ।बूढ़े तो सभी को एक दिन होना ही है लेकिन पैदलचलने का ये आदत हमें लंबे समय तक जवान रहने का एक सुनहरा अवसर देता है।

25. सुंदरता

आज के हर युवक युवतियां अपने इस जवानी के समय में सुंदर दिखना चाहते हैं तो आपके लिए ये सुबह नंगे पैर चलने का ये छोटा सा आदत आपको उन सभी जीजों से जो आप अपनी सुन्दरता को बनाए रखने के लिए कई ब्यूटी केयर प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करते हैं । उनसे कहीं बेहतर परिणाम देता है क्योंकि पैदल चलने से हम सुबह tकी ठंडी हवा और शुद्ध ऑक्सीजन को अपने अंदर लेते है और ये ठंडी हवा और सुबह की ओस की बूंदें जब हमारे नाजुक चेहरे की त्वचा को छूते है । तो ये हमारे चेहरे के मृत कोशिकाओं को हटाता है तथा ये बंद छिद्र को भी खोलता है जिससे ये उस शुद्ध ऑक्सीजन के प्रभाव से हमारे चेहरे पर निखार लाते हैं।और हमारी त्वचा सुंदर चमकदार एवम जवां नज़र आती है ।और हमारी सुन्दरता बढ़ जाती है ।

ये तो हैं नंगे पैर चलने के फायदे साथ ही जूते पहन कर या चप्पल पहनकर चलने के भी फायदे तो हैं।लेकिन ये हमारे पूरे शरीर के लाभ के लिए नहीं हैं ऐसे चलने के भी कुछ फायदे हैं लेकिन ये सामान्य फायदे हैं जैसे –

वजन कम करना । मोटापा को नियंत्रित करना । पाचन क्रिया को नियंत्रित रखना । शारीरिक अंगों में सक्रियता को बनाए रखना । अच्छी नींद लेने में फायदेमंद है।

“शिक्षित व्यक्ति स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होता है और यही उसकी सफलता का भी मुख्य कारण होता है “

इस तरह से पैदल चलने के इस आदत से हम अपने जीवन को स्वस्थ, सक्रिय,सुंदर आकर्षक और कई बीमारियों के प्रभाव से बचा सकते हैं सोचिए महज़ कुछ मिनट पैदल चलकर हम अपने जीवन को कितने अच्छे तरीके से व्यतीत कर सकते हैं तो फिर क्यों न हम अपने जीवन का छोटा सा भाग इस आदत को दें। क्योंकि अगर हम अपने इस अमूल्य जीवन के लिए ये नहीं कर सकते और बेकार में पैसे खर्च करके हर महीने ,हर साल , हर सप्ताह हजारों लाखों रुपए सिर्फ दवा खरीद कर अपने स्वास्थ्य को सही करने की सोचना बेवकूफी ही तो है। जो इंसान इन आदतों को अपने जीवन में नहीं लाता और महंगे दवाइयां खरीद कर खुद को अमीर और होशियार बताता है तो इसमें कोई बुद्धिमानी नहीं है। इससे बेहतर है कि अच्छी आदतों को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं और स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीएं अपने धन को इन लापरवाही के कारण होने वाले बीमारियों में खर्च करना बंद करें ।और इस तरह के अच्छे आदत को अपने जीवन का से हिस्सा बनाएं और इससे जो पैसे बचते हैं उसे किसी ऐसे काम पर लगाएं जहां से और इनकम आने की संभावना हो या जहां से और पैसे कमा सकें। क्योंकि ये बात सभी जानते हैं कि बुद्धिमानी इसमें नहीं कि हम फालतू में अपने कमाए धन को व्यय करें बल्कि बुद्धिमानी इसी में है कि जितना धन हम सही चीजों और जगहों पर लगा सकते हैं उतने जगह पर लगाएं और अपने आर्थिक स्त्रोत को बढ़ाएं।

“हमारा स्वास्थ्य ही हमारी सबसे बड़ी संपत्ति है इसका एहसास हमें तब होता है जब हम इसको खो देते हैं “

FAQ

हम अपने पूरे जीवन में स्वस्थ कैसे रह सकते हैं?

हमें अपने पूरे जीवन काल में स्वस्थ रहने के लिए अपने सभी दैनिक गतिविधियों और खान पान आदि सभी चीजों को संतुलित रखना होगा। और इस संतुलन के क्रम में पैदल चलने का आदत डालना हमारे स्वस्थ जीवन के लिए वरदान साबित हो सकता है क्यों कि यदि बात खाने पीने की करें तो संतुलित खाने पीने से जीवन स्वस्थ ही रहे और बीमारियां हमें दस्तक न दे ये तो नहीं कह सकते लेकिन पैदल चलने का ये आदत हमें स्वस्थ जीवन अवश्य ही देगा।

पैदल चलने का सही समय क्या है ?

पैदल चलने सा सबसे उत्तम समय है भोर का समय यानी 3:30 – 5 बजे बीच का ये समय सबसे ज्यादा लाभदायक होता है। यदि हम इस समय को पैदल चलने में व्यतीत करते हैं तो हमे कोई भी बीमारी प्रवेश नहीं कर सकती । इसके बाद सुबह 6-7 बजे का समय भी काफ़ी लाभदायक होता है और शाम को 5 -7 बजे के बीच का समय भी होता है। आप इसमें से किसी भी समय में अपना आदत डाल सकते हैं। ये समय उपयुक्त होते हैं इनके अलावा आप अपने इच्छा से दिन में किसी भी समय चल सकते हैं।

पैदल न चलने के क्या नुकसान हो सकते हैं?

पैदल न चलने के बहुत से नुकसान है सबसे बड़ा नुकसान तो ये है जीवन में अनेक बीमारियों का होना । और जीवन में बीमारी के होने से कभी शांति नहीं होता। इसके अलावा और कई नुकसान है जैसे –
1) कार्य करने की क्षमता में कमी ।
2)दिल की बीमारी ।
3)कमजोर याददाश्त ।
4)जोड़ों में दर्द ।
5)अनियंत्रित ब्लड प्रेशर ।
6)कमजोर व अविकसित मांसपेशियां ।
7)सोचने समझने की क्षमता में कमी ।
8)तनाव व डिप्रेशन जैसे मानसिक बीमारी का आना।
9)कैल्शियम की कमी ।
10)असंतुलित पाचन क्रिया ।
11)सिर में दर्द का बना रहना ।
12)आंखों की रोशनी का कम होना।
13)समय से पहले बुढ़ापे का आना ।
14)प्रतिरक्षा तंत्र का कमजोर होना।
15)मोटापा आना व वजन का बढ़ जाना।
16)कब्ज , पीठ दर्द जैसे कई बीमारियों का होना।
17)महिलाओं में पीरियड से संबंधित कई समस्याएं।
18)श्वास संबंधी रोगों का होना आदि ।
19)गर्भपात की संभावना।
20)नकारात्मक विचारों का आना।

पैदल चलना हमारे लिए किस तरह से लाभदायक हो सकता है ?

पैदल चलने से हमारे जीवन का सबसे लाभदायक चीज अगर कुछ है तो वो है हमारा स्वस्थ जीवन क्योंकि हमारा स्वास्थ्य ही हमारी सबसे बड़ी संपत्ति है, क्योंकि यदि हमारे पास पैसे की कमी है तो हम स्वस्थ होने पर पैसे कमा सकते हैं लेकिन अगर स्वस्थ जीवन न हो तो हम जीवन में स्वास्थ्य को नहीं खरीद सकते।लेकिन हां हम इसे अपने जीवन में बनाकर जरूर रख सकते हैं। और इसे बनाए रखने के लिए अपने अपने जीवन में अच्छे आदतों को डालना बहुत जरुरी है ।पैदल चलने का ये आदत हमें जीवन भर स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने में बहुत मददगार है। क्योंकि पैदल चलने से हमें अनेक लाभ जैसे –
1.शरीर के विभिन्न भागों में रक्त नियमित प्रवाह ।
2.दिल की बीमारियों के होने खतरा नहीं रहता है।
3. उचित पाचन क्रिया ।
4. जोड़ों व शरीर के विभिन्न भागों में अनेक प्रकार
के दर्द से राहत मिलना।
5. आंखों की रोशनी बढ़ना ।
6. फेफड़ों का मज़बूत होना ।
7. मानसिक बीमारी से छुटकारा ।
8. मांसपेशियों का मज़बूत होना ।
9. हड्डियों व जोड़ों में मजबूती ।
10. श्वास संबंधी बीमारियों से राहत ।
11. मज़बूत प्रतिरक्षा तंत्र ।
12. महिलाओं में पीरियड से संबंधित अनेक
बीमारियों व अनियमितताओं में नियंत्रण।
13. याददाश्त बढ़ना ।
14. दिमाग का पूर्ण विकास होना।
15. बुढ़ापे के समय को कम करने में मदद।
16. मोटापा व वजन कम करने में मदद।
17. सुन्दरता में वृद्धि।
18. मन को केंद्रित करने मदद।
19. सोचने समझने की शक्ति को बढ़ाने में मदद ।
20. संतुलित पाचन क्रिया।
21. गर्भपात की संभावना में कमी।
22. शरीर की इलेक्ट्रिक तरंगों पर नियंत्रण करना।
ऐसे बहुत से बीमारियों व अनियमितताओं को नियंत्रित कर स्वास्थ्य बनाए रखने तथा जीवन को रोग मुक्त एवम सुरक्षा प्रदान करने में बेहद फायदेमंद होता है।

पैदल चलकर हम खुद को कैसे फिट रख सकते हैं

पैदल चलकर हम रोजाना 200 कैलोरी बर्न कर सकते हैं। जिससे मेटाबॉलिज्म बढ़ेगा और वजन घटेगा और हम फिट रहेंगे।

स्वस्थ रहने के लिए हमें दिन में कितना चलना चाहिए?

स्वस्थ रहने के लिए हमें दिन में लगभग 5000 कदम और दिन का लगभग 60 मिनट या उससे कम या अधिक हो सकता है। लेकिन हर व्यक्ति को दिन में कम से कम 30 या 45 मिनट पैदल चलने के लिए निकालना स्वस्थ रहने में मददगार सिद्ध होगा। वैसे तो हम जितना अधिक चलते हैं उतना ही स्वस्थ रहने की संभावना बढ़ जाती है।

रोशन AllGovtJobsIndia.in मुख्य संपादक के रूप में कार्यरत हैं,रोशन को लेखन के क्षेत्र में 5 वर्षों से अधिक का अनुभव है। औरAllGovtJobsIndia.in की संपादक, लेखक और ग्राफिक डिजाइनर की टीम का नेतृत्व करते हैं। अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें। About Us अगर आप इस वेबसाइट पर लिखना चाहते हैं तो हमें संपर्क करें,और लिखकर पैसे कमाए,नीचे दिए गए व्हाट्सएप पर संपर्क करें-

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Disclaimer- प्रिय पाठको इस वेबसाइट का किसी भी प्रकार से केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा किसी सरकारी संस्था से कोई लेना देना नहीं है| हमारे द्वारा सभी जानकारी विभिन्न सम्बिन्धितआधिकारिक वेबसाइड तथा समाचार पत्रो से एकत्रित की जाती है इन्ही सभी स्त्रोतो के माध्यम से हम आपको सभी राज्य तथा केन्द्र सरकार की जानकारी/सूचनाएं प्रदान कराने का प्रयास करते हैं और सदैव यही प्रयत्न करते है कि हम आपको अपडेटड खबरे तथा समाचार प्रदान करे| हम आपको अन्तिम निर्णय लेने से पहले आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करने की सलाह देते हैं, आपको स्वयं आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके सत्यापित करनी होगी| DMCA.com Protection Status
error: Content is protected !!