AI क्या है और ये कैसे रोजगार दें सकता है?

AI क्या है और ये कैसे रोजगार दें सकता है: 

दिसम्बर 2022 में Open Artificial Intelligence के द्वारा अब तक का सबसे एडवांस और स्मार्ट टेक्नोलॉजी Chat GPT यानि Chat Generative Pre-Trained Transformer लॉन्च किया गया, जिसके बाद से आये दिन हर जगह Artificial Intelligence की चर्चा हो रही है। वैसे तो Artificial Intelligence यानि AI काफ़ी लंबे समय से हमारे डेली लाइफ का हिस्सा बन चुका है,  ऑनलाइन शॉपिंग , वेब-सर्चिंग , साइबरसिक्योरिटी, मैपिंग, सोशल मीडिया फीड्स, गूगल असिस्टेंट, अलेक्सा, गेमिंग जैसे कई ऐसे सेक्टर है, जहां हम हर रोज Artificial Intelligence का यूज़ करते है, लेकिन अब तक हम इन सभी सेक्टर के साथ AI का  यूज़ सीधे तौर पर नहीं करते है, बल्कि रिलेटेड सेक्टर द्वारा AI की एक फिक्स कोडिंग की जाती है, जिसकी वजह से हम इन AI का इस्तेमाल कर पाते है। यदि Artificial Intelligence का ये चर्चा घूमते-घूमते आपके कानो तक भी आ चुका है और अब आप भी AI के बारे में पूरी डिटेल जानकारी जानना चाहते है, तो आप बिल्कुल सही जगह आये है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको AI क्या है और ये कैसे रोजगार दें सकता है? ये बताने के साथ-साथ इसके बेहतरीन अवसर और फायदे-नुकसान के बारे में भी बताएंगे।

 

क्या है Artificial Intelligence?

Artificial Intelligence को ह्यूमन ब्रेन का पूरक कहा जाता है। इंसानो ने अपने माइंड के जैसे टास्क को पूरा करने के लिए कई तरह के सॉफ्टवेयर बनाये है, जिनके हेल्प से आज मशीनो द्वारा भी इंसानी बुद्धि वाला काम किया जाता है। इसे ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कहा जाता है, क्योंकि इसमें Intelligence यानि बुद्धिमता को बनाया जाता है।

AI के उपयोग क्या है?

हेल्थकेयर सेक्टर में  AI एल्गोरिदम का यूज़  एक्सरे, सीटी स्कैन, एमआरआई, सर्जरी के अलावा डायग्नोसिस और हेल्थ सर्विस में भी होता है। एग्रीकल्चरल इंडस्ट्री  में भी AI काफी कारगर है,  डिजिटल फार्मिंग टेक्नोलॉजी का यूज़ करके फसल के उत्पादन को बढ़ाया जाता है।  एजुकेशन सेक्टर में open AI के Chat Gpt ने स्टूडेंट के होमवर्क और असाइनमेंट वर्क को बहुत इजी बना दिया है। इसके अलावा Vedandu ,  Unacademy जैसे कई ऐसे एप्लीकेशन प्लेटफार्म है, जहां AI का यूज़ करके हर स्टूडेंट को ऑनलाइन बहुत कुछ पढ़ने का मौका मिलता है। बैंकिंग सेक्टर में AI आपके सभी फाइनेंसियल लेनदेन का पूरा हिसाब-किताब रखता है।नेवीगेशन और जीपीएस में AI का यूज़ करके हम आसानी से अनजान जगह भी सफर कर सकते है। इस तरह आज के समय में हर क्षेत्र में बहुत ही तेजी से AI का यूज़  हो रहा है, AI का ऑटोमोशन प्रोसेस हमारे डेली लाइफ को आसान बनाने बहुत उपयोगी है।

Artificial Intelligence के फायदे क्या है?

जैसा कि आपको पता ही है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसा प्रोग्राम है, जो इंसानों की तरह ही काम करता है। आज इसका यूज़ हर छोटे-बड़े आर्गेनाइजेशन के साथ-साथ एक आम आदमी करता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को यूज़ करने के कई फायदे है, आइये जानते है विस्तार से :

1. डेली लाइफ को इजी करना :  आज के टाइम में हमारा डेली लाइफ बिना इंटरनेट और मोबाइल के इम्पॉसिबल सा लगता है। मोबाइल और इंटरनेट से रिलेटेड लगभग हर काम अलग-अलग AI पर ही बेस होता है।

2. जीरो रिस्क :  चाहे किसी आंतकवादी बम को डीफ्यूज करना हो, किसी युद्ध में परमाणु ऊर्जा का यूज़ करना हो, स्पेस में जाना हो या बड़े-बड़े मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में आटोमेटिक काम करना हो। सभी जगह AI जीरो रिस्क के साथ अपनी रिस्पांबिलिटी निभाते है। ये वो काम भी इजीली कर लेता है, जो इंसान कभी कर ही नहीं सकता है।

3. 100% एक्यूरेसी : AI में सेट किये गए प्रोग्राम और एल्गोरिदम के आधार पर ये सटीक जानकारी देता है। सही प्रोग्रामिंग के बेस पर इसके मिस्टेक को जीरो किया जा सकता है। इसका सबसे अच्छा इगज़ाम्पल रोबोटिक सर्जरी सिस्टम है, जो सटीकता के साथ कॉम्प्लिकेटेड प्रोसेस इजी कर सकता है।

4. टाइम सेविंग : बहुत से ऐसे काम जो हम मनुष्य अगर मैन्युअली करते है, तो काफ़ी टाइम वेस्ट हो जाता है, जबकि AI का यूज़ करने से वही काम कुछ सेकंण्ड्स में ही पुरे हो जाते है। जिससे हमारा काफ़ी टाइम सेव होता है और मेहनत भी कम लगता है।

5. वर्चुअल असिस्टेंट : आपने अमेजॉन, फ्लिपकार्ट जैसे कई इकॉमर्स वेबसाइट पर देखा होगा, आपके सामने बार-बार सर्चेबल साइट की चीज़ें नजर आती है, जिन्हें AI वर्चुअल असिस्टेंट के थ्रू ही आपके पास भेजा जाता है, इसकी वजह से इन कंपनियों के क्लिक फॉर व्यू और परचेस  रेट भी बढ़ जाता है।

6. 24*7 डे सपोर्ट : आज के टाइम में हर छोटी-बड़ी कंपनी या आर्गेनाइजेशन हेल्प सपोर्ट के लिए chat bot का यूज़ करते है। इस Chat bot AI tool से बिना इंसान के ही कंपनी या आर्गेनाइजेशन अपने कस्टमर को 24*7 डे सपोर्ट की फैसिलिटी प्रोवाइड करा सकते है, क्योंकि इंसान कंटिन्यू काम नहीं कर सकता, जबकि AI आराम की जरूरत नहीं होती है।

7. न्यू इन्वेंशन : AI के न्यू इन्वेंशन का सबसे बड़ा इगज़ाम्पल चंद्रयान-3 है। कैमरा , सेंसर और एआई एल्गोरिदम के न्यू टेक्निक के साथ चंद्रयान-3 को चन्द्रमा पर जीवन की खोज में भेजा गया।

8. ट्रांसपेरेंसी : AI के ट्रांसपेरेंसी का बेहतर यूज़ ऑनलाइन स्क्रीनिंग भर्ती परीक्षा में किया जाता है। जिससे भर्ती प्रक्रिया सरल और सटीक होता है।

Artificial Intelligence के नुकसान क्या है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आने से जहां इतने फायदे है, वही इसके कई तरह के नुकसान भी हैं। आइये अब AI के कुछ नुकसान पर चर्चा कर लेते है:

1. बेरोजगारी रेट में वृद्धि : AI के आने से बड़े पैमाने पर हम इंसानों का ज्यादातर काम AI ही पूरा कर रहा है। हर सेक्टर में इसका अधिकाधिक यूज़ से इंसानों के काम कम हो सकते है और बेरोजगारी का रेट बढ़ सकता है।

2. हैवी मेंटेनेंस : AI प्रोग्रामिंग मशीन काफ़ी कॉस्टली होते है और ज़ब ये ख़राब होते है, तो इन मशीनों का मेंटेनस और रख रखाव बहुत खर्चीला है। कभी-कभी तो इन मशीनों के खराब होने पर उसे ठीक करना भी आसान नहीं होता है।

3. हेल्थ इशू : एक तरफ AI वाले मशीनों के कांटेक्ट में ज्यादा देर तक रहने और दूसरी तरफ AI मशीनों की वजह से इंसान का हर काम मशीनों के द्वारा करने से इंसानों में कई तरह के हेल्थ इशू और साईको रिलेटेड प्रॉब्लम बढ़ रहे है।

4. एक्यूरेसी के लिए डिपेंड : AI मशीनों के अंदर कोई फीलिंग्स नहीं होता है। इन मशीनों द्वारा फीड प्रोग्राम के  अनुसार ही जानकारी दी जाती है। यदि किसी कारण से मशीन में गलत प्रोग्रामिंग हो जाये,  तब ये AI सही और गलत अंतर नहीं कर पाता है। ये AI 100% एक्यूरेसी के लिए पूरी तरह से इंसानों पर डिपेंड है।

5. प्राइवेसी पर खतरा : AI का मिसयूज़ करके कोई भी किसी के भी प्राइवेसी को लीक कर सकता है। सिस्टम हैक से लेकर सोशल मीडिया अकाउंट का हैक होना, पूरा प्रोसेस एआई सिस्टम डेटा पर निर्भर करता है।

AI टेक्नोलॉजी के साथ future opportunity क्या है?

बदलते समय के साथ AI में फ्यूचर के लिए बहुत स्कोप है। बता दे कि आईटी, रिटेल, मार्केटिंग, फाइनेंस जैसे कई बड़े सेक्टर में AI की मांग आने वाले समय बहुत ज्यादा बढ़ने वाली है, क्योंकि AI से रोज कुछ नया इनोवाशन  हो रहा है। AI के एडवांस और डीप लर्निंग मॉडल्स से मेडिकल डायग्नोसिस, सेल्फ ड्राइविंग कार, स्मार्ट होम्स जैसी बहुत सी ऐसी चीजें है, जो हमारे जीवन को आसानी बना रहे है। AI में फ्यूचर ग्रोथ केवल देश विदेश में ही नहीं, बल्कि भारत में भी हो रहा है।  भारत सरकार ने  हाल ही में ‘AI In India’ और ‘Make AI work for India’ विजन के साथ देश भर के टॉप एजुकेशन आर्गेनाइजेशन में AI के लिए 3 सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित करने की बात कही है।

AI से रोजगार कैसे मिल सकते है?

अब तक हमने फायदे, नुकसान के साथ अच्छे से जाना कि AI क्या है और ये कैसे रोजगार दें सकता है? अब इस पर बात कर लेते है। AI में शानदार करियर बनाने के लिए कई संस्थानों द्वारा AI कोर्स को कराया जाता है। इस कोर्स के लिए 12वीं की परीक्षा PCM यानि फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ से पास करना जरूरी होता है। जिसके बाद आप कंप्यूटर साइंस, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रोनिक्स, इलेक्ट्रिकल्स इंजीनियरिंग के साथ अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं। इसके अलावा आप 12वीं के बाद कंप्यूटर साइंस में B.Tech, M.Tech, BCA, MCA, BscIT, MScIT का कोर्स भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप AI से रिलेटेड कई कोर्स जिसमें मशीन लर्निंग और एआई में पीजी प्रोग्राम,फाउंडेशन ऑफ़ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग में पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम, फुल स्टैक मशीन लर्निंग एंड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड डीप लर्निंग में पोस्ट ग्रेजुएट सर्टिफिकेट प्रोग्राम आदि भी कर सकते है।

आईआईटी, बंगलुरु, खड़गपुर, दिल्ली, मुंबई, कानपुर, गुवाहाटी, रुड़की,

जिगसॉ एकेडेमी, बंगलुरु,

मणिपाल प्रोलर्न, बंगलुरु

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बंगलुरू,

सेंटर फॉर आर्टिफिशल इंटेलिजेंस ऐंड रोबोटिक्स, बंगलुरू,

ग्रेट लर्निंग इंस्टीट्यूट, गुड़गांव

नेताजी सुभाष इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली, बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पिलानी,

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, मैसूर

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, इलाहाबाद,

यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद आदि

आप इन संस्थानों से AI कोर्स को करके में AI में प्रोफेशनल तरीके से करियर को शुरू कर सकते है। लेकिन यदि आपके पास इन कोर्स को करने की फैसिलिटी नहीं है और आप AI में ही अपना फ्यूचर बनाना चाहते है, तो आप कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई पर जोर दे और साथ में कुछ बेसिक प्रोगामिंग लैंग्वेज जैसे जावा, पाइथन, टेंसरफ्लो आदि को सीखने की कोशिश करे। बहुत सारे ऑनलाइन रिसोर्सेज के जरिए आप घर बैठे भी अपने AI स्किल्स को डेवलप कर सकते हैं।

FAQ अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

एआई में कितने कोर्स होते है?

एआई के बढ़ते डिमांड के साथ आज के समय में देश, विदेश के कई संस्थानों द्वारा एआई के लिए कई सर्टिफिकेट कोर्स के साथ डिग्री कोर्स भी अवेलेबल है। आर्टिफीसियल इंटेलीजेंस कोर्स की सारी डिटेल हमने आर्टिकल में शेयर की है।

बिना कोर्स के एआई एक्सपर्ट कैसे बने?

यदि आप बिना कोर्स के एआई एक्सपर्ट बनना चाहते है, तो आपके लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म यूट्यूब है। यूट्यूब  और कुछ फ्री ट्यूटोरियल वाले वेबसाइट की मदद से आप एआई को सीख कर छोटी सॉफ्टवेयर कंपनी के साथ अपनी शुरुआत कर सकते है।

एक एआई इंजीनियर को कितना सैलरी मिलता है?

यदि एआई इंजीनियर के लिए किसी संस्थान से प्रोफेशनल कोर्स पूरा करते है, तो उनकी स्टार्टिंग सैलरी लगभग 4-6 लाख एनुअल होता है, जो आर्गेनाइजेशन के साथ चेंज भी होता है।

चैट जीपीटी एआई क्या है?

चैट जीपीटी ओपन एआई के द्वारा बनाया गया ऐसा टूल है, जो एक यूज़र द्वारा इंटरनेट से चाही गई हर जानकारी को हर बार नए फॉर्म में तैयार करके यूजर के सामने रखता है।

एआई से कौन सी नौकरियां खतरे में है?

चैट जीपीटी ओपन एआई के द्वारा बनाया गया ऐसा टूल है, जो एक यूज़र द्वारा इंटरनेट से चाही गई हर जानकारी को हर बार नए फॉर्म में तैयार करके यूजर के सामने रखता है।

हालांकि एआई से लोग शिक्षा, पत्रकारिता, राइटिंग, ग्राफिक डिज़ाइनर जैसे कई जॉब्स को खतरे में बता रहे है, लेकिन एआई से जहां 10% जॉब्स जाने की पॉसिबिलिटी है, वही 90% जॉब्स में एआई से अपने काम में और बेहतर विकल्प बनाने की उम्मीद है।

तो दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने आपको AI क्या है और ये कैसे रोजगार दें सकता है? इससे रिलेटेड लगभग सारी जानकारी शेयर की है। उम्मीद है, ये जानकारी आपके लिए हेल्पफुल होंगी। यदि अब भी आपको AI से रिलेटेड कुछ और जानना हो, कमेंट में जरूर बताये।

रोशन AllGovtJobsIndia.in मुख्य संपादक के रूप में कार्यरत हैं,रोशन को लेखन के क्षेत्र में 5 वर्षों से अधिक का अनुभव है। औरAllGovtJobsIndia.in की संपादक, लेखक और ग्राफिक डिजाइनर की टीम का नेतृत्व करते हैं। अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें। About Us अगर आप इस वेबसाइट पर लिखना चाहते हैं तो हमें संपर्क करें,और लिखकर पैसे कमाए,नीचे दिए गए व्हाट्सएप पर संपर्क करें-

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Disclaimer- प्रिय पाठको इस वेबसाइट का किसी भी प्रकार से केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा किसी सरकारी संस्था से कोई लेना देना नहीं है| हमारे द्वारा सभी जानकारी विभिन्न सम्बिन्धितआधिकारिक वेबसाइड तथा समाचार पत्रो से एकत्रित की जाती है इन्ही सभी स्त्रोतो के माध्यम से हम आपको सभी राज्य तथा केन्द्र सरकार की जानकारी/सूचनाएं प्रदान कराने का प्रयास करते हैं और सदैव यही प्रयत्न करते है कि हम आपको अपडेटड खबरे तथा समाचार प्रदान करे| हम आपको अन्तिम निर्णय लेने से पहले आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करने की सलाह देते हैं, आपको स्वयं आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके सत्यापित करनी होगी| DMCA.com Protection Status
error: Content is protected !!