एस एस सी सीजीएल (टाँयर 3) वर्णनात्मक परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के महत्वपूर्ण सुझाव

एस एस सी सीजीएल (टाँयर 3) वर्णनात्मक परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के महत्वपूर्ण सुझाव

आज हर व्यक्ति सरकारी विभागों एवं सरकारी संगठनों में नौकारी करना चाहता है जिसके लिए कर्मचारी चयन आयोग हर साल सयुंक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा आयोजित करता है । इस साल आयोग ने परीक्षा पद्धति को और अधिक प्रभावी बनाने एवं सफल उम्मीदवार के चयन के लिए पाठ्यक्रम में कुध बदलाव किया गया है । सबसे बड़ा परिर्वतन यह है कि टाँयर 3 के रूप मे एक वर्णनात्मक परीक्षा को शामील किया गया है जो पहले नही था और साक्षात्कार प्रणाली कों इस कैलेण्डर वर्ष से निष्कासित कर दिया गया है । इस नए पेपर की शुरूवात के करण कफी उम्मीदवार आशंकित है एवं भारी दबाव महसुस कर  रहे है । चूंकि इस के पहले यह पेपर पाठ्मक्रम में नही था, अतः इस लेख के द्वारा हम आप को कुछ सुझाव देना चाहते हैं कि कैसे आप वर्णात्मक परीक्षा में अच्छे नम्बंर लाकर एक सफल उम्मीदवार के रूप में खरा उतर सकते है ।

एस एस सी सीजीएल  वर्णत्मक पेपर में आप कैसे सफल उम्मीदवार के रूप में खरा उतर सकते है ।

आयोग ने वर्णनात्मक परीक्षा के लिए आने वाले प्रश्नों की संख्या अधिसूचना में निर्धारित नही किया है, परन्तु इस पेपर की समय अवधि 60 मिनट एवं कुल अंकों की संख्या 100 निर्धारित की गई है । वर्णनात्मक परीक्षा आप अपनी सुविधा के अनुसार अंग्रेजी या हिन्दी माध्यम में दे सकते हैं । सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस पेपर के दौरान पेन और पेपर का इस्तेमाल कर सकते हैं । आयोग द्वारा वर्णनात्मक पेपर के पाठ्यक्रम में निबंध, संक्षिप्त लेख, पत्र एवं आवेदन पत्र इत्यादि को शामील किया गया है ।

इस लेख के द्वारा हम आप को वर्णनात्मक पेपर  के माध्यम से कैसे अच्छे अंक प्राप्त कर सकते उसके सम्बन्ध में कुछ सुझव पेश करेंगें ।

  • दैनिक सामाचार पत्रों के माध्यम द्वारा आप से आपेक्षा की जाती है कि आप नियमित रूप से दैनिक समाचार पत्रों का बरीकी से अध्ययन करें । आप अपनी सुविधा के अनुसार जिस माध्यम में परीक्षा देना चाहते हैं उसी के आधार पर हिन्दी एवं अग्रेंजी के दैनिक पत्रों का चयन करें । हिन्दी में परीक्षा देने वाले उम्मीदवार को हिन्दी के प्रसिद्ध सामाचार पत्रों का अध्ययन करें एवं अंग्रेजी मे परीक्षा देने वाले उम्मीदवार को टाइम्स ऑफ इंडिया , द हिन्दू , द इंडियन एक्सप्रेस आदि अखबारों की मदद ले सकते है । समाचार  पत्रों के माध्यम से लिखेन की शैली एवं कला पद्धति की जानकारी प्राप्त की जा सकती है । अखबार पत्रों के नियमित रूप से अध्ययन एवं निरंतर अभ्यास के द्वारा ही वर्णनात्मक पेपर में अच्छे नम्बर प्राप्त कर सकते हैं ।
  • दैनिक समाचार पत्रों के अध्ययन के द्वारा विषय को परीक्षक के समने प्रभावित रूप से प्रस्तुत करने मे मदद मिलती है ।
  • सामाचार मत्रों के माध्यम से किसी भी विषय की भूमिका , उसके मुख्य रूप – रेखा एवं उसके निरार्कष की जानकारी प्राप्त होती है जो परीक्षक को अधिक प्रभावित करती है ।
  • सरल एवं सहज भाषा का इस्तेमाल करे अपने विचारों को सही तरीके से व्यक्त करे पेचीदा शब्दो को प्रयोग न करें बल्कि स्पष्ट रूप से अपने भावो को व्यक्त करते हुए भाषा शैली का विशेष ध्यान रखें एवं साफ – साफ लिखे जिस से परीक्षक को मूलंयकन करने में कोई कठिनाई न हो । लेख का प्रस्तूति कारण किसी भी विषय की शुरुवात एवं इसका अंत बहुत अच्छी तरह होनी चाहिए जो परीक्षक को प्रभावित कर सके और नम्बर देने में किसी तरह की कंजूसी न करे ।
  • निरत्तर अभ्यास सफलता की कुंजी है, किसी भी मंजिल को हासिल करने के लिए उम्मीदवार को निरन्तर अभ्यास की जरूरत है । आप अपने लेख अभ्यास को किसी भी अनुभावी व्यक्ति द्वारा मूत्यंकन करवा कर अपनी प्रतिभा का स्वंय परीक्षण कर सकते है ।
  • वर्णनात्मक परीक्षा में सफल उम्मीदवार के रूप में खरा उतर सकते हैं जिन्होने लगातार अभ्यास के साथ कड़ी मेहनत एवं समय का सही सदुपयो किया है । उनके लिए वर्णनात्मक परीक्षा वरदान साबित हों सकता है ।

शुभकामनाओ सहित ।

You May Also Like

LEAVE A REPLY